श्रमिक कार्ड के फायदे 2022 | Benefits of Sharmik Card

श्रमिक कार्ड के फायदे 2022 (Benefits of Sharmik Card) लॉकडाउन के समय सभी राज्य इन दिनों बहुत सारे लोग अपना श्रमिक पंजीकरण कर रहे हैं। आज हम आर्टिकल के माध्यम से हिंदी में मजदूर कार्ड के क्या क्या लाभ हो सकते हैं?, लेबर कार्ड के फायदे, Shramik Card Ke Fayde, Labour Card Ka Labh, श्रमिक कार्ड का लाभ कैसे लें, लेबर कार्ड लिस्ट, श्रमिक कार्ड का फायदा और लेबर कार्ड प्रिंट के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

श्रमिक कार्ड एक ऐसी योजना है जो दिन के उजाले या नरेगा में काम करने वाले मजदूरों के लिए लागू की गई है, केवल मजदूर ही श्रमिक कार्ड बनवा सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसमें कोई भी श्रमिक जो किसी निर्माण स्थल पर काम कर रहा है या दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम कर रहा है, वह श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट से अपना ऑनलाइन पंजीकरण करा सकता है।

लेबर कार्ड के माध्यम से सरकार की ओर से गरीब मजदूरों के बच्चों को स्कॉलरशिप भी दी जाती है, जो कक्षा एक से लेकर एमए तक दी जाती है। यदि लेबर कार्ड धारकों की कोई लड़की है तो उन्हें भी सरकार की ओर से 55000/- रुपये की सहायता राशि दी जाती है। हमने निचे इसी पोस्ट में Benefits of Sharmik Card की सूची दे रखी हैं।

अगर आप मजदूरी का काम करते हैं तो आप घर बैठे ही अपना लेबर कार्ड / श्रमिक कार्ड / मजदूर कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। पंजीकरण और इसके लाभों के बारे में अधिक जानने के लिए आपको यह लेख पढ़ने की आवश्यकता है।

मजदूर कार्ड के क्या क्या लाभ हो सकते हैं?

बहुत सारे मजदूर कहते हैं कि, हमारा लेबर कार्ड बन गया है, लेकिन हमें नहीं पता कि मजदूर कार्ड के क्या क्या लाभ हो सकते हैं? और न ही हमें लेबर कार्ड के फायदे मिल रहे हैं। और इसका फायदा हम कैसे उठा सकते है। इन सब सवालों का जवाब आज आपको हमारे इस पोस्ट में आसानी से मिल जायेगा कृपया, इस पोस्ट को अंत तक अवश्य ही पढ़ें।

अपने देश के सभी राज्य में काम करने वाले श्रमिकों की कोई भी श्रेणी श्रम विभाग के तहत अपना पंजीकरण अपने अपने राज्य के अनुसार करा सकते है, और पंजीकरण के बाद वे कई लाभों के हकदार हैं जो की राज्य सरकार उन्हें और उनके परिवारों को प्रदान करती है।

श्रमिक कार्ड के फायदे 2021 | Benefits of Sharmik Card
श्रमिक कार्ड के फायदे 2020 | Benefits of Sharmik Card

एक बार जब इक्छुक मजदूर ऑफिसियल पोर्टल के तहत पंजीकृत हो जाता है तो वे सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं और लाभ राशि सीधे उनके खाते में जमा की जाती है। लेकिन आधिकारिक पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करने से पहले आपके पास वह सर्टिफिकेट होना चाहिए जो आपको उस साइट से मिलेगा जहां पर आप काम कर रहे हैं जिसमें आपकी पूरी जानकारी का उल्लेख होगा।

ये भी पढ़ें:   Bihar Board 12th Exam Form 2022 2023 Pdf Download Link

हम आपको बता दें की, जब आप एक बार श्रम विभाग में पंजीकृत हो जाते हैं तो आपको सरकार द्वारा कुछ योजनाओं के माध्यम से श्रमिक कार्ड के फायदे 2022 के पात्र हो जाते हैं, जोकि खास मजदूरों के लिए उपलब्ध होता हैं, जिसके बारे में हमने नीचे कुछ योजनाओं को सूचीबद्ध किया है।

श्रमिक कार्ड के फायदे 2020

  • पेंशन
  • दुर्घटना के मामले में सहायता
  • उपचार के लिए चिकित्सा राशि
  • शुभशक्ति योजना
  • निर्माण श्रमिक स्वास्थ्य व बीमा योजना
  • मातृत्व लाभ
  • लाभार्थी की बेटी की शादी के लिए राशि
  • मरणोत्तर देय राशि (एक्सीडेंटल लाइफ इंश्योरेंस)
  • घर के निर्माण के लिए ऋण राशि
  • सिलिकोसिस पीड़ित हिताधिकारियों हेतु सहायता योजना
  • कौशल उन्नयन के लिए वित्तीय सहायता
  • जीवन व भविष्य सुरक्षा योजनाशिक्षा सहायता
  • काम करने वाले उपकरणों की खरीद की सहायता
  • प्रसुति सहायता योजना
  • सब्सिडी वाली बिजली

वैसे तो हर राज्य में लेबर कार्ड के अलग-अलग लाभ और योजनाएं हैं, इसलिए हम यहां सभी योजनाओं को शामिल कर रहे हैं।

चाहे वे किसी भी श्रेणी के श्रमिक हों या मजदूर, चाहे वे किसी भी राज्य के निवासी हों, यदि वे निर्माण कार्य करने वाले दिहाड़ी मजदूर हैं, तो वे श्रम विभाग के तहत अपना पंजीकरण करा सकते हैं। और पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद, वे लेबर कार्ड के तहत लाभ के हकदार होंगे।

इसके साथ ही लेबर कार्ड का लाभ और लेबर कार्ड का लाभ भी प्राप्त कर सकेंगे। कोई भी मजदूर और मजदूर जो दिहाड़ी मजदूरी करता है या बेलदारी करता है या भवन निर्माण से संबंधित कार्य करता है तो वह श्रम विभाग की वेबसाइट के माध्यम से अपना पंजीकरण करा सकता है।

एक बार आपका रजिस्ट्रेशन सफलतापूर्वक हो जाने के बाद आप लेबर कार्ड के माध्यम से उपलब्ध सभी सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन उसके लिए आपके पास यह सर्टिफिकेट होना चाहिए कि आप किस गांव, शहर या जगह पर मजदूरी करते हैं। इसमें पूरी जानकारी और आपका पूरा विवरण होना चाहिए। उसके बाद आपको लेबर कार्ड का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। और लेबर कार्ड के तहत मिलने वाली लाभ की राशि सीधे आपके बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी।

मजदूर विभाग के तहत कौन पंजीकरण करा सकता है?

  • निर्माण मजदूर
  • कारपेंटर
  • बिजली मिस्त्री
  • लोहार
  • मकान बनाने वाला (मिस्त्री)
  • पेंटर
  • प्लम्बर
  • रॉड निर्माण कार्यकर्ता
  • और अन्य कार्यकर्ता

नीचे हमने उन मजदूरों की सूची ऊपर दी है, जो इस योजना के तहत अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साईज फोटो
  • बैंक पासबुक
  • श्रमिक कार्ड फार्म (Download Shramik Card Yojana Rajasthan Form Pdf Online)
  • भामाशाह कार्ड
  • ठेकेदार द्वारा दिया गया शपथ-पत्र (90 दिन मजदूरी करने का का सबूत)

इस लेबर कार्ड की लिस्ट आप खुद भी ऑनलाइन बना सकते हैं और अपने कैश ई-मित्र पर जाकर भी बनवा सकते हैं।

आपको ये सारे दस्तावेज लेने होंगे और आपको कहीं 90 दिन यानी तीन महीने मजदूरी का काम करना चाहिए था। चाहे आपने किसी के साथ पलदारी की हो या फैक्ट्री में काम किया हो, आपको बस ठेकेदार से सर्टिफिकेट बनवाना है। उसके बाद 15-20 दिनों में आपका लेबर कार्ड बन जाएगा।

ये भी पढ़ें:   Bihar Board 12th Registration Form 2022 Inter Exam 2023

Benefits of Sharmik Card

श्रमिक कार्ड योजना का लाभ उन गरीब लोगों को दिया जाता है जिनकी वार्षिक आय कम है। लेबर कार्ड बनने के बाद सरकार की ओर से आपको कई तरह के फायदे दिए जाते हैं। श्रमिक कार्ड योजना पूरे भारत में चलाई गई है। सभी राज्यों के अलग-अलग नियम हैं। मजदूर कार्ड योजना विशेष उन लोगों के लिए चलाई गई है जो मजदूर लोग हैं जो गरीबी रेखा में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। मजदूर श्रमिक कार्ड से गरीब लोगों को आठ से दस लाभ मिलते हैं।

श्रमिक कार्ड के फायदे 2022 के माध्यम से सरकार द्वारा चलाई जाने वाली किसी भी योजना का लाभ ऑफिस कार्ड के माध्यम से उठा सकते हैं यदि लेबर कार्ड आपने बना लिया है तो अधिकतम दो लड़कियों के विवाह पर आप सरकार से 55055 की अनुदान राशि प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त बच्चों की पढ़ाई में 5000 से लेकर 10000 तक का लाभ लेबर कार्ड के माध्यम से सरकार से प्राप्त कर सकते हैं। निबंधित असंगठित कर्मकार के दो बच्चों को कक्षा 9 से 12वीं तक आईटीआई या पॉलिटेक्निकल में पढ़ रहे बच्चों को प्रति वर्ष छात्रवृत्ति के रूप में दिए जाएंगे।

मजदूर बहनों को प्रसूति सहायता के लिए 6 से 9 महीने में 4000 की सहायता प्रदान की जाएंगी इसके अतिरिक्त प्रसव के बाद उन्हें 12000 दिए जाएंगे ताकि वह खुद की और अपने बच्चे की देखभाल अच्छे से कर सकें। श्रमिक का बेटा यदि कक्षा 6 में पड़ रहा है। तो उससे हजार आर्थिक सहायता दी जाएगी जबकि बेटी को ₹9000 आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

12वीं तक छात्रों को 9000 तथा छात्राओं को 12000 की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्राप्त की जाएगी। यदि आपके पास लेबर कार्ड है तो प्राइवेट स्कूल में भी अपने बच्चों को फ्री में पढ़ा सकते हैं यदि आपके परिवार का कोई सदस्य गंभीर बीमारी से प्रेरित है तो वह फ्री में अपना इलाज किसी भी अस्पताल से करवा सकता है।

आकस्मिक मृत्यु होने की स्थिति में सरकार द्वारा श्रमिक कार्ड के फायदे 2022 के तहत परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है असाध्य रोग होने की स्थिति में रसीद लाभार्थी को जिला राष्ट्रीय मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा पर पूर्ण चिकित्सालय खर्च दिया जाएगा।

FAQ: Labour Card Benefits

सवाल — श्रमिक कार्ड कौन बनवा सकता है?

जवाब — श्रमिक कार्ड कार्ड उन लोगों के लिए बनाया जाता है जो दैनिक मजदूरी करते हैं, जैसे राजमिस्त्री, लोहार, बढ़ई, पेंटर, प्लम्बर और हर प्रकार के दिहाड़ी श्रमिक।

सवाल — लेबर कार्ड के फायदे 2022 क्या क्या हैं?

जवाब — लेबर कार्ड बनते ही मजदूरों को सरकार द्वारा काफी सारी सुविधाएँ मुहैया कराई जाती हैं, जैसे की दुर्घटना के मामले में सहायत।, उपचार के लिए चिकित्सा राशि, मातृत्व लाभ, लाभार्थी की बेटी की शादी के लिए राशि, इत्यादि पूरी लिस्ट पढ़ने के लिए कृपया इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

सवाल — मजदूर कार्ड बनाने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

जवाब — श्रमिक पंजीयन कार्ड बनवाने के लिए निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता हैं। जैसे की आधार कार्ड, पासपोर्ट साईज फोटो, बैक पास बुक, काई भी प्रमाण पत्र जि‍सके आयु का उल्‍लेख हो & 1 वर्ष में 90 दि‍न नि‍र्मा‍ण श्रमि‍क का कार्य करने का प्रमाण पत्र, इत्यादि।

ये भी पढ़ें:   Bihar Board 9th Class Registration Form for Matric Exam 2023

सवाल — मजदूरी कार्ड पर कितने पैसे मिलेंगे?

जवाब — इसके लिए उन्हें किसी तरह का अंशदान नहीं करना पड़ेगा। बीमा के तहत यदि दुर्घटना में मौत होती है तो एक लाख रुपए, सामान्य मृत्यु की स्थिति में 30 हजार रुपए, आंशिक अपंगता पर 37,500 रुपए, पूर्ण अपंगता पर 75,000 रुपए मिलेंगे

सवाल — श्रमिक कार्ड बनाने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए?

जवाब — श्रमिक कार्ड बनाने के लिए 18 से 60 वर्ष की उम्र के निर्माणी श्रमिक योजना हेतु पात्र होगें।

Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

Leave a comment