BSEB 10th Exam 2023: बिहार बोर्ड दसवीं वार्षिक परीक्षा 2023 आज से शुरू, यह गाइडलाइन जानना जरूरी

बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित मैट्रिक कक्षा की वार्षिक परीक्षा आज यानी 14 फरवरी 2023 (मंगलवार) से शुरू हो रही है। जिसमें आज दोनों पालियों में छात्र गणित यानि मैथ विषय की परीक्षा देंगे। इसके लिए प्रदेश भर में 1500 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस साल बिहार बोर्ड 10वीं बोर्ड परीक्षा में 16 लाख 37 हजार 414 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं, जिसमें 8,06,201 छात्र और 8,31,213 छात्राएं शामिल हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हर दिन दो पालियों में दसवीं की परीक्षा आयोजित की जाएगी, प्रदेश भर में हर केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। बिहार बोर्ड द्वारा 13 फरवरी 2023 से 22 फरवरी 2023 तक परीक्षा से संबंधित सभी सुविधाओं के लिए कंट्रोल रूम खोल दिया गया है।

14 फरवरी 2023 से बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा

बिहार बोर्ड 10वीं क्लास की परीक्षा आज 14 फरवरी 2023 से शुरू हो रही है। BSEB यानी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित की जाने वाली थ्योरी परीक्षाएं आज से यानी 14 फरवरी 2023 से 22 फरवरी 2023 तक आयोजित की जाएंगी, परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित की जाएंगी।

पहली पाली सुबह 9:30 बजे से दोपहर 12:45 बजे तक है। दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से शाम 5:15 बजे तक आयोजित की जाएगी। छात्रों को प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए 15 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा। 15 मिनट के अतिरिक्त समय में, उम्मीदवार प्रश्न पत्र को पढ़ और उसका विश्लेषण कर सकते हैं। इसके बाद वे अपना उत्तर लिख सकते हैं।

आपको बता दें कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति 10वीं कक्षा के एडमिट कार्ड के बिना छात्रों को परीक्षा हॉल में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा, इसलिए छात्र अपना एडमिट कार्ड अवश्य ही साथ लेकर जाएँ। साथ ही छात्रों को रिपोर्टिंग टाइम पर परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा। परीक्षा केंद्र में प्रतिबंधित वस्तुओं में मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, हेडफोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट शामिल हैं। अभ्यर्थी सावधान रहें कि इनमें से कोई भी सामान अपने साथ न ले जाएं। अगर कोई छात्र इन गैजेट्स के साथ पकड़ा जाता है तो उसे परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

ये हैं मैट्रिक परीक्षा के दिशा निर्देश व नियम

  • परीक्षार्थी अब जूते-मोजे पहनकर परीक्षा नहीं दे सकेंगे।
  • परीक्षा केंद्र पर अपना एडमिट कार्ड साथ लेकर आएं। एडमिट कार्ड में त्रुटि होने पर आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या बैंक पासबुक के जरिए प्रवेश दिया जाएगा। अगर एडमिट कार्ड खो गया है तो अटेंडेंस शीट से इसकी पहचान की जाएगी। अभ्यर्थियों का प्रवेश पत्र व उपस्थिति पत्रक से मिलान किया जाएगा।
  • परीक्षा केंद्र पर कम से कम 30 मिनट पहले पहुंचें। पहली पाली के लिए सुबह 9.00 मिनट और दूसरी पाली के लिए 1.30 मिनट तक एंट्री मिलेगी।
  • कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट परीक्षा केंद्र में नहीं ले जाना है।
  • यदि आप परीक्षा कक्ष में किसी अन्य उम्मीदवार से बात करते हैं, तो आपको निष्कासित कर दिया जाएगा।
  • परीक्षा के दौरान कोई अतिरिक्त उत्तर पुस्तिका नहीं दी जाएगी।
  • ओएमआर पर व्हाइटनर, इरेज़र, कील, ब्लेड आदि का उपयोग करने से ओएमआर रद्द हो जाएगा
  • परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद तक किसी को भी बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • उत्तर पुस्तिका के प्रथम पृष्ठ के बाईं ओर छात्रों द्वारा केवल विषय का नाम और उत्तर देने का माध्यम भरा जाएगा। जबकि उत्तर पुस्तिका में प्रश्न पत्र का सेट कोड नीले या काले बॉल पेन से भरना है। उत्तर पुस्तिका के दाहिनी ओर बने बॉक्स में प्रश्नपत्र सेट कोड भरा जाएगा।
  • इसके अलावा प्रश्नपत्र संख्या और छात्र को वहां अपना पूरा नाम और विषय का नाम हस्ताक्षर करना होता है। मध्य भाग को उम्मीदवार द्वारा छोड़ दिया जाएगा क्योंकि यह भाग परीक्षक द्वारा भरा जाएगा। उत्तरपुस्तिका पर अभ्यर्थी के हस्ताक्षर नहीं होने पर ओएमआर निरस्त कर दिया जायेगा।
  • बिहार बोर्ड ने इंटरमीडिएट परिक्षा में दिव्यांग छात्रों को प्रति घंटे 20 मिनट का अतिरिक्त समय दिया है. दिव्यांग अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए हर केंद्र पर ग्राउंड फ्लोर पर बैठने की व्यवस्था की गई है। राइटर की सुविधा चाहने वाले छात्रों को डीईओ कार्यालय में संपर्क करना होगा।
  • छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए इस बार भी शत-प्रतिशत अतिरिक्त प्रश्न दिए जाएंगे। छात्रों से उनके द्वारा उत्तर दिए गए प्रश्नों की संख्या से दुगने प्रश्न पूछे जाएंगे। छात्र आराम से परीक्षा दें, किसी भी प्रकार के दुराचार में लिप्त न हों। -आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति
  • मैट्रिक की परीक्षा के दौरान हर केंद्र पर हर परीक्षार्थी की तीन बार चेकिंग होगी। परीक्षा शुरू होने से पहले केंद्र परिसर में दो बार और कक्षा में एक बार निरीक्षक द्वारा चेकिंग ली जाएगी।
  • सभी निरीक्षकों द्वारा छात्रों की तलाशी ली जाएगी। अगर चित-पूर्जा मिल जाए तो उसे निकालकर बाहर फेंक दिया जाएगा। पूरी तलाशी के बाद निरीक्षकों द्वारा एक घोषणा पत्र भरा जाएगा, जिसमें निरीक्षक हर छात्र की तलाशी लेने और चिट नहीं होने की जानकारी देंगे। सीसीटीवी कैमरों के अलावा परीक्षा केंद्र के अंदर और बाहर वीडियोग्राफी की जाएगी।
  • अन्वेषक ओएमआर उत्तर पत्रक एवं उत्तर पुस्तिका में अंकित स्थान पर छात्र द्वारा दिए गए निर्देशानुसार ओएमआर, उत्तर पत्रक एवं उत्तर पुस्तिका पर हस्ताक्षर तथा प्रश्न पत्र संख्या को देखकर प्रश्न पत्र का वितरण करेगा।
  • बोर्ड के अनुसार कदाचार मुक्त परीक्षा के नियमों की जानकारी केंद्र की हर कक्षा के ब्लैक बोर्ड पर दी जाएगी। इसमें स्पष्ट रूप से लिखा होगा कि कदाचार में संलिप्त पाए जाने पर बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम, 1981 के तहत कार्रवाई की जाएगी। साथ ही बरामदे की दीवार पर विभिन्न स्थानों पर यह निर्देश लिखकर चिपका दिया जाएगा। पंडाल। किसी भी परीक्षा केंद्र पर निरीक्षक के अलावा किसी को भी प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • 25 परीक्षार्थियों पर एक मॉनिटर रहेगा। केंद्र अधीक्षक एक कक्षा में कम से कम दो निरीक्षक प्रतिनियुक्त करेंगे।
  • सामूहिक कदाचार की स्थिति में उस केन्द्र की परीक्षा नियमानुसार निरस्त कर दी जायेगी। परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षार्थी को केंद्र से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा।
Read Also:  BSEB Exam 2024 News: बिहार बोर्ड इंटर मैट्रिक परीक्षा फॉर्म में आधार नंबर छिपाने पर परीक्षा से वंचित किया जाएगा

बिहार बोर्ड 2023 मैट्रिक की परीक्षा 14 फरवरी 2023 से शुरू हो रही है। 22 फरवरी 2023 तक चलने वाली यह परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जा रही है। इस बार पूरे राज्य में बिहार बोर्ड 2023 मैट्रिक में कुल 16,37,414 छात्र शामिल होने जा रहे हैं। जिसमें 8,06,201 लड़के और 8,31,213 लड़कियां हैं। इस परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्राओं ने लड़कों की तुलना में अधिक परीक्षा फार्म भरे हैं।

छात्र इन बातों का रखें खास ध्यान

बिहार बोर्ड मैट्रिक कक्षा की परीक्षा आज 14 फरवरी 22023 से शुरू हो रही है। परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों में कई तरह की शंकाएं होंगी। इसे दूर करने के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। जो उम्मीदवार के लिए आवश्यक है।

परीक्षा केंद्र पर जाने से पहले पढ़ें ये जरूरी निर्देश

  • एडमिट कार्ड और पेन के अलावा कुछ भी परीक्षा भवन में नहीं लाना होगा।
  • परीक्षा के दौरान बातचीत करने पर निष्कासित होंगे।
  • एडमिट कार्ड में गड़बड़ी है तो केंद्र पर जाना होगा पहचान पत्र।
  • केंद्र पर कोई भी इलेक्ट्रॉनिक्स सामान लेकर जाना बिल्कुल मना है।
  • परीक्षा केंद्र के 200 मीटर तक धारा 144 लागू रहेगी।
  • परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रश्नपत्र, उत्तर पुस्तिका, ओएमआर उत्तर पत्रक आदि को पढ़ने व समझने के लिए 15 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा।
  • परीक्षा केंद्र में कैलकुलेटर, मोबाइल, ब्लूटूथ ईयरफोन या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट आदि लाना/इस्तेमाल करना प्रतिबंधित है।
  • परीक्षा के दौरान छात्रों को अतिरिक्त उत्तर पुस्तिका नहीं मिलेगी।
  • ओएमआर शीट पर व्हाइटनर, इरेजर, कील, ब्लेड आदि का प्रयोग करने पर ओएमआर निरस्त हो जाएगा।
  • यदि किसी अभ्यर्थी का प्रवेश पत्र खो गया है, अथवा गलती से घर पर छूट गया है, तो ऐसी स्थिति में उपस्थिति पत्रक में स्कैन फोटो से उसकी पहचान कर उसका सत्यापन कर परीक्षा में सम्मिलित होने की अनंतिम अनुमति दी जायेगी। यह रोल शीट से। फोटो के साथ आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या बैंक पासबुक दिखा सकते हैं।
  • उम्मीदवार को परीक्षा शुरू होने से कम से कम 30 मिनट पहले पहुंचना होगा।
  • परीक्षा केंद्रों पर विद्यार्थियों के अलावा किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहेगा।
  • विलम्ब से आने वाले अभ्यर्थियों को उस पाली की परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

पहले दिन गणित की परीक्षा होगी। मैथ्स की पहली पाली की परीक्षा सुबह 9:30 बजे से 12:45 बजे तक और दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5:15 बजे तक होगी। छात्र जूते-मोजे पहनकर परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। परीक्षा को लेकर सभी केंद्रों पर धारा 144 लागू कर दी गई है। परीक्षा में सभी जिलों में मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट, सुपर जोनल मजिस्ट्रेट तैनात रहेंगे। प्रत्येक केंद्र पर पर्याप्त संख्या में स्टैटिक मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। अध्यक्ष ने सभी जिला पदाधिकारियों व जिला शिक्षा अधिकारियों को परीक्षा के दौरान मोबाईल रहने के निर्देश दिए हैं।

16 लाख से अधिक परीक्षार्थी देंगे एग्जाम

मैट्रिक परीक्षा में प्रदेश भर से 16,37,414 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें 8,31,213 छात्राएं और 8,06,201 लड़के शामिल हैं। पहली पाली में 8,25,121 और दूसरी पाली में 8,12,293 परीक्षार्थी होंगे। हर दिन एक विषय की परीक्षा ली जाएगी। बिहार बोर्ड द्वारा दोनों पालियों के लिए 20 प्रश्नपत्रों का सेट तैयार किया गया है। पहली पाली के लिए दस और दूसरी पाली के लिए दस प्रश्नपत्रों का एक सेट होगा। राज्य भर के हर जिले में चार आदर्श केंद्र बनाए गए हैं। कुल 152 मॉडल सेंटर बनाए गए हैं।

Read Also:  Bihar Board New Rule 2023: बिहार बोर्ड 9वीं से 12वीं कक्षाओं तक के बच्चों के अभिभावकों को स्कूल जाने के लिए देना होगा शपथ पत्र

स्टडी मटेरियल है प्रतिबंध

Bihar School Examination Board परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। साथ ही हर 500 परीक्षार्थियों के लिए एक वीडियोग्राफर की व्यवस्था की गई है। छात्रों को परीक्षा केंद्र के अंदर कोई भी अध्ययन सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं है। परीक्षा केंद्र के गेट पर ही चेकिंग की जाएगी। परीक्षा कक्ष में केंद्र अधीक्षक के अलावा कोई भी परीक्षार्थी, परीक्षक, परीक्षक व अन्य अधिकारी व कर्मी मोबाइल फोन नहीं ले जा सकेंगे।

फोटोग्राफी व प्रिंटर की दुकानें 200 मीटर की दूरी तक बंद रहेंगी

Bihar Board परीक्षा केंद्र से 200 मीटर की दूरी तक सभी फोटोग्राफी, साइबर कैफे और प्रिंटर की दुकानें बंद रहेंगी। 100 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू रहेगी।

हर परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 लागू होगा

परीक्षा अवधि के दौरान लोगों के एकत्र होने और अनैतिक गतिविधियों को रोकने के लिए सभी परीक्षा केंद्रों पर सीआरपीसी की धारा 144 लागू रहेगी। राज्य भर में 16 लाख से अधिक छात्रों ने मैट्रिक परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया है, जो 22 फरवरी, 2023 को समाप्त होगी।

मैट्रिक परीक्षा 2023 दो पालियों में होगी आयोजित

आपको बता दें की, बिहार बोर्ड दसवीं परीक्षा 2023 दो पालियों में आयोजित होगी। पहली पाली सुबह 9:30 बजे से दोपहर 12:45 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से शाम 5:15 बजे तक होगी. परीक्षार्थी को परीक्षा शुरू होने से आधा घंटा पहले केंद्र पर पहुंचना होगा।

अत्यधिक विलम्ब की स्थिति में परीक्षा प्रारम्भ होने के 30 मिनट पूर्व तक प्रवेश दिया जा सकता है। किसी तरह की दिक्कत होने पर हेल्पलाइन नंबर 06122232257, 06122232227 पर संपर्क कर सकते हैं।

हर विषयों में 100% अतिरिक्त प्रश्न होंगे

इस बार भी सभी विषयों में अतिरिक्त प्रश्नों का शत-प्रतिशत विकल्प दिया जाएगा। छात्रों द्वारा प्रयास किए जाने वाले प्रश्नों की संख्या से दोगुना प्रश्न पूछे जाएंगे। 25 परीक्षार्थियों पर एक शिक्षक की प्रतिनियुक्ति की जाएगी।

परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए गए हैं। एक बेंच पर दो परीक्षार्थियों को बैठने का निर्देश दिया गया है।

ऐसी घड़ियां पहनना वर्जित

परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों को इलेक्ट्रिकल घड़ी, स्मार्ट घड़ी और चुंबकीय घड़ी पहनने की अनुमति नहीं है। ऐसी घड़ियाँ पहने पाए जाने वाले उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अभ्यर्थी केवल एक सूई वाली घड़ी पहनकर ही परीक्षा कक्ष में प्रवेश कर सकते हैं।

14 फरवरी 2023 से दसवीं की परीक्षा शुरू

नकल विहीन और पारदर्शी तरीके से परीक्षा कराने के लिए कुल 4,213 निरीक्षक भी तैनात किए गए हैं। उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में कोई भी प्रतिबंधित वस्तु जैसे मोबाइल, ब्लूटूथ डिवाइस आदि ले जाने की अनुमति नहीं होगी।

जो छात्र बोर्ड परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, उन्हें अंतिम समय में अपना आत्मविश्वास ऊंचा रखना चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षा पर चर्चा 2023 कार्यक्रम के दौरान छात्रों को परीक्षा का तनाव कम करने के टिप्स दिए थे। उन्होंने कहा कि कोई भी परीक्षा आखिरी परीक्षा नहीं होती है, इसलिए परीक्षा को ही एक त्योहार समझें।

मजिस्ट्रेट की तीन स्तरों पर पदस्थापना की जाएगी

मैट्रिक परीक्षा के दौरान तीन स्तरों पर दंडाधिकारियों की पदस्थापना की गई है। इससे छात्रों की दो स्तरों पर जांच होगी। प्रथम बार परीक्षार्थी की परीक्षा केन्द्र पर प्रवेश के साथ होगी, जबकि द्वितीय स्तर की परीक्षा परीक्षार्थी परीक्षा कक्ष में कराएंगे। केंद्र के दो सौ मीटर के दायरे में धारा 144 लागू रहेगी।

Read Also:  BSEB 75% Attendance Mandatory Rule: बिहार बोर्ड के स्कूलों में 75% उपस्थिति अनिवार्य, अभिभावकों को देना होगा शपथ पत्र

पहली पाली में 9 बजे व दूसरी पाली में 1:30 बजे के बाद सेंटर पर प्रवेश बंद

पहली पाली के परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने से 30 मिनट पहले केंद्र में प्रवेश करना होगा। सुबह साढ़े नौ बजे होने वाली परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को केंद्र में सुबह नौ बजे तक प्रवेश करना होगा। दूसरी पाली की परीक्षा 2 बजे से शुरू होगी, इसके लिए 1:30 बजे तक परीक्षा कक्ष में प्रवेश करना होगा। देर होने पर केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

विकलांग अभ्यर्थियों के लिए लिपिक की सुविधा उपलब्ध कराने की कार्रवाई जिला शिक्षा अधिकारी स्तर पर की जायेगी। दिव्यांग अभ्यर्थियों को प्रति घंटे 20 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा। इसके साथ ही बोर्ड ने छात्रों को प्रश्नपत्र पढ़ने और अन्य कार्यों के लिए 15 मिनट का अलग से समय दिया है। पहले दिन मैथ्स विषय की पहली पाली की परीक्षा सुबह साढ़े नौ बजे शुरू होगी। सुबह 11 बजे विज्ञान की परीक्षा में ओएमआर शीट ली जाएगी। इसके बाद 12:45 बजे परीक्षा खत्म होगी। वहीं, दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से शुरू होगी। इसके लिए दोपहर 3:30 बजे ओएमआर लिया जाएगा। वहीं, परीक्षा शाम 5:15 बजे खत्म होगी।

प्रवेश पत्र में गड़बड़ी होने पर पहचान पत्र लेकर केंद्र जाना होगा

जिन उम्मीदवारों के प्रवेश पत्र में फोटो त्रुटि है, उन्हें परीक्षा में शामिल होने की अनुमति है। प्रवेश पत्र के फोटो में गड़बड़ी होने पर या किसी अन्य का फोटो छपा होने पर छात्रों को पहचान पत्र लेकर परीक्षा केंद्र पहुंचना होगा।

छात्र परीक्षा केंद्र पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या फोटो वाली बैंक पासबुक लेकर आएं। इसके साथ ही पहचान पत्र की फोटोकॉपी राजपत्रित अधिकारी से सत्यापित कराकर परीक्षा केंद्र पर जमा करानी होगी। अभ्यर्थी को मूल पहचान पत्र के साथ स्वयं उपस्थित होना होगा।

Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

Leave a comment