बिहार बोर्ड वार्षिक परीक्षा 2023 में मैट्रिक के 17 लाख एवं इंटर के 13 लाख से ज्यादा छात्र होंगे शामिल

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के द्वारा इंटरमीडिएट और मैट्रिक के वार्षिक परीक्षा 2023 के सेंटअप एग्जाम की परीक्षा सम्पन करा ली गयी है। आपके जानकारी के लिए बता दें की, बिहार बोर्ड इंटर का सेंटअप एग्जाम 11 अक्टूबर 2022 से 21 अक्टूबर 2022 तक और मैट्रिक का एग्जाम 15 नवंबर 2022 से 23 नवंबर 2022 आयोजित की गयी थी। इस बार बिहार बोर्ड ने ही प्रश्न पत्र तैयार किया था। बता दें कि सेंट अप परीक्षा का रिजल्ट तैयार कर ली गयी हैं।

इस बार बिहार बोर्ड की माने तो वार्षिक परीक्षा 2023 में कुल 30 लाख से अधिक विद्यार्थी शामिल होंगे। जिसमें 13 लाख के लगभग में इंटर के छात्र शामिल होंगे वही 17 लाख के लगभग मैट्रिक के छात्र शामिल होंगे।

बिहार बोर्ड इंटर परीक्षा 2023 में 13 लाख छात्र होंगे शामिल

बिहार बोर्ड इंटर वार्षिक परीक्षा 2023 में प्रदेशभर से 13 लाख 18 हजार 439 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें पुरुष परीक्षार्थियों की संख्या छह लाख 81 हजार 975 और महिला छात्रों की संख्या छह लाख 36 हजार 464 है। इस बार इंटर में 2022 की तुलना में 26 हजार 895 कम छात्रों ने परीक्षा फार्म भरा है। बिहार बोर्ड के मुताबिक राज्य के 11 जिलों में अभ्यर्थियों की संख्या बढ़ी है. वहीं 27 जिलों में प्रत्याशियों की संख्या घटी है। प्रदेश में आठ ऐसे जिले हैं, जहां 50 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल हैं।

अभ्यर्थियों की सूची के आधार पर हर जिले में परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। सभी जिलों में जिलाधिकारी व जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा परीक्षा केंद्र को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

मैट्रिक कक्षा के 17 लाख छात्र शामिल होंगे

जैसा की आप सभी जानते ही होंगे की, बिहार बोर्ड सेंट-अप परीक्षा में क्वालीफाई करने वाले छात्रों को ही बिहार बोर्ड के वार्षिक परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाती है। अगले साल होने वाले वार्षिक परीक्षा 2023 में मैट्रिक के करीब 17 लाख छात्र शामिल होने वाले हैं।

सेंटअप परीक्षा में अनुपस्थित छात्रों का एक साल हो सकता है बर्बाद

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के निर्देश पर आयोजित की जा रही सेंट अप परीक्षा में शामिल नहीं होने वाले छात्र मुख्य परीक्षा में भी शामिल नहीं हो सकेंगे. क्योंकि परीक्षा में प्राप्त अंकों के अनुसार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा प्रवेश पत्र जारी किया जाएगा। रिजल्ट तैयार नहीं होने पर बोर्ड एडमिट कार्ड भी जारी नहीं करेगा। जिससे छात्र मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे और उनका एक साल बर्बाद हो जाएगा।

27 जिलों में कम हुए हैं छात्र

पटना, भोजपुर, बक्सर, रोहतास, जहानाबाद, नवादा, औरंगाबाद, गया, अरवल, मुजफ्फरपुर, सारण, सीवान, गोपालगंज, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, भागलपुर, बांका, मुंगेर, खगड़िया, बेगूसराय, लखीसराय, शेखपुरा, पूर्णिया, अररिया।

11 जिलों में बढ़े हैं छात्र

इस बार इंटर की परीक्षा में 11 जिलों में परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ी है। इसमें नालंदा, कैमूर, सीतामढ़ी, वैशाली, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, शिवहर, दरभंगा, जमुई, किशनगंज और कटिहार शामिल हैं। 2022 की तुलना में इन जिलों में प्रत्याशियों की संख्या एक हजार से बढ़कर पांच हजार हो गई है। बिहार बोर्ड के सूत्रों की मानें तो जिन जिलों में परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ी है, वहां परीक्षा केंद्र भी बढ़ाए जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड कक्षा 12वीं का ऑफिशियल मॉडल पेपर 2023 जारी, पढ़ें नवीनतम एग्जाम पैटर्न
Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

1 thought on “बिहार बोर्ड वार्षिक परीक्षा 2023 में मैट्रिक के 17 लाख एवं इंटर के 13 लाख से ज्यादा छात्र होंगे शामिल”

  1. 2023 exam , me कितने विकल्प (objective) पूछे जायेंगे ।।
    …………………………………

    Reply

Leave a comment