बिहार बोर्ड ने सभी सर्टिफिकेट को किया ऑनलाइन, अब घर बैठे मंगाएं सॉफ्ट कॉपी

Sponsored Links

अगर आपने बिहार बोर्ड से मैट्रिक या इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की है और मूल प्रमाण पत्र या मार्कशीट के लिए कार्यालय जा रहे हैं तो यह खबर आप अवश्य ही पढ़ें। बिहार बोर्ड ने 39 साल के सभी सर्टिफिकेट ऑनलाइन कर दिया हैं। अब बिहार बोर्ड से मैट्रिक और इंटर पास कर चुके छात्र अगर दोबारा अपनी मार्कशीट या मूल प्रमाण पत्र प्राप्त करना चाहते हैं, तो उनकी सभी सेर्टिफिकेट की सॉफ्ट कॉपी बड़ी ही आसानी से मिल जाएगी। इसके लिए आपको बस घर बैठे बिहार बोर्ड को एक ईमेल भेजना होगा। और ई-मेल द्वारा आवेदन करने के तुरंत बाद आपको प्रमाण पत्र मिल जाएगा।

जैसे की आप सभी जानते हैं की, इससे पहले बिहार बोर्ड के पास मैनुअल सर्टिफिकेट मिलता था। 2010 से पहले बिहार बोर्ड के मैट्रिक और इंटर के सर्टिफिकेट डिजिटल नहीं थे। ऐसे में अब बिहार बोर्ड ने 1983 से अब तक के सभी प्रमाणपत्रों को डिजिटल कर दिया है। पहले छात्र जरूरत पड़ने पर आवेदन करते थे और उसके बाद वे मूल प्रमाण पत्र या मार्कशीट ले पाते थे। इसमें भी काफी समय लगता था और आने-जाने में भी परेशानी होती थी। अब बिहार बोर्ड के लाखों छात्र इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे।

बिहार बोर्ड ने 39 साल के सर्टिफिकेट को किया ऑनलाइन

बोर्ड ने 1983 से अब तक 10वीं और 12वीं के सर्टिफिकेट को डिजिटल किया है।
2010 से पहले के मैट्रिक और इंटर सर्टिफिकेट डिजिटल नहीं थे।
छात्र ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी आवेदन कर सकेंगे।
1960 से 1982 तक के सर्टिफिकेट भी जल्द ऑनलाइन होंगे।

बिहार बोर्ड ने 39 साल के सभी सर्टिफिकेट ऑनलाइन कर दिए हैं। मैट्रिक और इंटर पास कर चुके छात्र अगर दोबारा अपनी मार्कशीट या मूल प्रमाण पत्र लेना चाहते हैं तो उसकी सॉफ्ट कॉपी आसानी से मिल जाएगी। इसके लिए आपको बस घर बैठे बिहार बोर्ड को एक ईमेल भेजना होगा।

कहीं भी आवेदन कर सकते हैं

छात्र ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं, अब छात्रों को आवेदन के लिए पटना आने की जरूरत नहीं होगी, छात्र देश के कोने-कोने से ऑनलाइन कर सकते हैं, वही ऑफलाइन आवेदन दिल्ली के अलावा नौ संभागों में क्षेत्रीय कार्यालय से किया जा सकता है क्षेत्रीय कार्यालय। बोर्ड की मानें तो अगर छात्र सही जानकारी के साथ आवेदन करता है तो आपका सर्टिफिकेट कम समय में जारी हो जाता है।

bseb marksheet online upload

उम्र छुपाकर परीक्षा देने वाले आ रहे हैं पकड़ में

बोर्ड सूत्रों की मानें तो कई ऐसे छात्र प्रमाणपत्र को डिजिटाइज करने में पकड़े जा रहे हैं, जिन्होंने दो बार अपनी उम्र छिपाकर मैट्रिक की परीक्षा दी है, ऐसे छात्रों की सूची भी बोर्ड द्वारा तैयार की जा रही है। डिजिटाइजेशन का काम शुरू हो चुका है, जल्द ही 1960 से 1982 तक के बचे हुए सर्टिफिकेट भी डीजल के होंगे।

ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड इंटर स्पॉट नामांकन शुरू, पढ़ें प्रतिक्रिया से जुडी सारी जानकारियां

10वीं पास सर्टिफिकेट ऑनलाइन कैसे डाउनलोड करें?

2017 या उसके बाद आयोजित सीबीएसई परीक्षाओं के डिजिटल प्रमाण पत्र डिजिलॉकर में उपलब्ध हैं। प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए छात्र डिजिलॉकर आवेदन में लॉग इन कर सकते हैं

वर्ष 1983 के पहले वाले सर्टिफिकेट भी होंगे अपलोड

कहा जाता है कि 1983 से पहले के सभी प्रमाणपत्रों का डिजिटलीकरण नहीं किया जा सका था। हालांकि इसे अपलोड करने का काम जारी है, सर्टिफिकेट के डिजिटल होने से बिहार से बाहर रहने वाले छात्रों को आसानी से इसका फायदा मिलेगा। क्योंकि बिहार में रहने वाले छात्र आसानी से पटना आ जाते थे लेकिन बाहर रहने वाले छात्रों को दिक्कत होती थी, अब यह बहुत सुविधाजनक होने जा रहा है।

Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

10 thoughts on “बिहार बोर्ड ने सभी सर्टिफिकेट को किया ऑनलाइन, अब घर बैठे मंगाएं सॉफ्ट कॉपी”

  1. Dear sir good morning
    Dear sir my name spelling mistake please create my name spelling
    My sartificate name spelling is vir Kumar mandal but my name spelling is veer Kumar mandal please provide the the create spelling
    Thanks veer Kumar mandal
    My rool no 0299 rool code 06299
    Year 1994 my date of birth 19-10-1979

    Reply

Leave a comment