बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट 2022 का काउंटडाउन शुरू इसी माह जारी होगा इंटर का रिजल्ट

बिहार बोर्ड पिछले कुछ वर्षो से लगातार देश भर में सबसे पहले बोर्ड एग्जाम का आयोजन कर व सबसे पहले र‍िजल्‍ट जारी करने में र‍िकार्ड कायम कर रहा है। इसी को मद्देनजर उम्‍मीद की जा रही है क‍ि इस वर्ष 2022 में भी यह सिलसिला लगातार बरकरार रहेगा। और BSEB देश भर में सबसे पहले इंटरमीडिएट और मेट्रिक कक्षा का रिजल्ट प्रकाशित कर रिकॉर्ड स्थापित करेगा।

बीएसइबी परीक्षा के आयोजन में पूरी तत्‍परता द‍िखाते हुए पूरे देश भर में सबसे पहले इसका आयोजन 24 फरवरी तक ही समाप्त कर ल‍िया। अब सबकी अपेक्षा है क‍ि Result भी समय से जारी कर सबसे आगे रहने का र‍िकार्ड बरकरार रखा जाएगा। हम आपको बता दें की, BSEB 12th Exam 2022 के कॉपियों का मूल्‍यांकन भी 8 मार्च तक पूरा हो गया है।

और फ़िलहाल बिहार बोर्ड के टॉपर का वेरिफिकेशन शुरू हो चूका है। और इसके तुरंत बाद Bihar Board 12th Result 2022 जारी होने की उम्‍मीद है। हम अपने विश्वसनीय सूत्रों की मानें तो बिहार बोर्ड सच‍िव ने BSEB 12th Exam 2022 Result को समय पर जारी करने को लेकर सख्‍त आदेश दे दिया है। और बोर्ड के कार्यों में तेजी देख यही लगता हैं की, इसी महीने के अंत तक BSEB 12th Result जारी कर दि‍ए जाएंगे।

08 मार्च 2022 तक था मूल्‍यांकन की अंत‍िम त‍िथ‍ि

जैसा के आप सभी जानते हैं की, बिहार बोर्ड ने वार्षिक 12वीं का एग्जाम 2022 की परीक्षा 1 फरवरी 2022 से 14 फरवरी 2022 के बीच आयोजित की थी। जबक‍ि इसके लि‍ए प्रैक्टिकल एग्जाम का आयोजन 10-20 जनवरी 2022 को क‍िया गया था। अब बिहार बोर्ड 12 वीं के कॉपी का मूल्यांक राजधानी समेत राज्य के सभी जिलों में पूर्ण कर ली गयी है। और अब रिजल्ट तैयार कर टॉपर्स छात्रों की प्रक्रि‍या भी अंत‍िम चरण में है।

बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट कब तक आ सकता है? 

बीएसईबी इंटर का रिजल्ट मार्च के आखिरी हफ्ते में आने की उम्मीद है, लेकिन बिहार बोर्ड को कुछ नहीं कहा जा सकता है, रिजल्ट कभी भी जारी किया जा सकता है क्योंकि बिहार बोर्ड रिजल्ट की पूरी प्रोसेसिंग लगभग हो चुकी है.

बिहार बोर्ड ने पूरे देश में पहली परीक्षा देकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है और कई सालों से बिहार बोर्ड केवल 40-50 दिनों के भीतर परिणाम जारी कर रहा है। बीएसईबी 12वीं के परिणाम के आयोजन में बीएसईबी ने पूरी तत्परता दिखाते हुए इसे पूरे देश में पहली बार आयोजित किया है। अब सभी से उम्मीद की जा रही है कि समय पर रिजल्ट जारी कर सबसे आगे रहने का रिकॉर्ड कायम रहेगा.

अधिकांश हिंदी और अंग्रेजी उत्तरपुस्तिका की जाँच होती हैं।

बिहार बोर्ड के मुताबिक हिंदी और अंग्रेजी विषयों की कॉपियों को चेक करने में समय लगता है. चूंकि भाषा को विज्ञान, कला, वाणिज्य और व्यावसायिक सभी में पढ़ाया जाता है। अधिकांश छात्र इन दो भाषाओं में शामिल हैं। ऐसे में हिंदी और अंग्रेजी में सबसे ज्यादा उत्तरपुस्तिकाएं हैं। इसके मूल्यांकन के लिए अधिकांश शिक्षकों को लगाया गया है।

ये भी पढ़ें:   इन्टरमीडिएट कम्पार्टमेन्टल-सह-विशेष परीक्षा, 2022 के प्रायोगिक विषयों की प्रवेश-पत्र जारी

Leave a comment