बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा आज से, 1525 केंद्रों पर होगी मैट्रिक परीक्षा | इन बातों का रखें ध्यान

बिहार बोर्ड की 10वीं या यूँ कहें की मैट्रिक परीक्षा इस साल 17 फरवरी 2022 से शुरू होने जा रही है, और 24 फरवरी 2022 तक चलेगी। मेट्रिक परीक्षा को लेकर बिहार बोर्ड की ओर से विशेष तैयारी की गई है। बिहार राज्य भर में कुल 1525 केंद्रों पर मेट्रिक की परीक्षा आयोजित की जाएगी, जिसमें कुल 16 लाख 48 हजार 894 छात्र एवं छात्राये शामिल होने जा रहे हैं। बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। दोनों पालियों में समिल्लित हो रहे छात्रों के लिए विशेष व्यवस्था की जा रही है। हम आपको बता दें की, बिहार बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने का आदेश भी जारी किया गया है।

बिहार बोर्ड 10th एग्जाम 2022 में परीक्षार्थी को परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले तक एंट्री मिलेगा। इसके बाद आने वाले परीक्षार्थियों को एंट्री नहीं दिया जायेगा। पहली पाली में सम्मिलित हो रहे परीक्षार्थियों को 9:20 AM तक अंतिम प्रवेश मिलेगा। तो वहीं, दूसरी पाली के लिए 1:35 PM बजे तक प्रवेश करने का वक़्त दिया जायेगा। इसलिए हम सभी छात्रों आग्रह करते हैं की, Bihar Board 10th Exam 2022 के परीक्षार्थियों को समय से एग्जाम सेंटर पर पहुंच जाएँ।

What's In This Post?

मैट्रिक परीक्षा से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

  • बिहार बोर्ड परीक्षा में छात्र जूते-मोजे पहनकर परीक्षा दे सकते हैं। ठंड के मौसम को देखते हुए छात्रों को जूते-मोजे पहनकर परीक्षा केंद्र/परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी गई है।
  • अपना प्रवेश पत्र अपने साथ अवश्य रखें। इसमें किसी भी प्रकार की त्रुटि होने पर आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या बैंक पासबुक के माध्यम से प्रवेश दिया जाएगा।
  • परीक्षा शुरू होने से कम से कम 10 मिनट पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंचें। पहली पाली के लिए रात 9.20 बजे और दूसरी पाली के लिए दोपहर 1.35 बजे तक प्रवेश मिलेगा।
  • परीक्षा केंद्र पर कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लेकर न जाएं।
  • यदि आप परीक्षा हॉल में किसी अन्य उम्मीदवार से बात करते हैं, तो छात्र को निष्कासित कर दिया जाएगा।
  • परीक्षा के दौरान छात्रों को अतिरिक्त उत्तर पुस्तिकाएं नहीं दी जाएंगी।
  • ओएमआर शीट पर व्हाइटनर, इरेज़र, नाखून, ब्लेड आदि का उपयोग अस्वीकार कर दिया जाएगा।
  • परीक्षा शुरू होने के बाद एक घंटे तक किसी को भी बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • उत्तर पुस्तिका के पहले पृष्ठ के बाईं ओर, बस विषय का नाम और उत्तर का माध्यम भरें। प्रश्न पत्र के सेट कोड को नीले या काले बॉल पेन से भरें। वहीं, प्रश्न पत्र का सेट कोड दाहिने हिस्से में बॉक्स में भरें।
  • परीक्षा केंद्र में प्रवेश के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है। परीक्षा केंद्र में सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड 19 दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा. कक्षाओं के बाहर हैंड सैनिटाइजर भी रखा जाएगा।
ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड 10वीं के रिजल्ट का इंतजार कब होगा खत्म, यहां देखिए लेटेस्ट अपडेट

बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2022 में उपस्थित होने वाले सभी उम्मीदवारों को अधिकारियों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को जानना चाहिए। परीक्षा केंद्र में इनका पालन करना सभी के लिए जरूरी है।

इन दिशानिर्देशों को ध्यान में रखें

  • उम्मीदवार को केंद्र में मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • जूते और मोजा पहनकर परीक्षा दी जा सकती है।
  • एडमिट कार्ड और बॉल पेन साथ रखना होगा।
  • परीक्षार्थियों को निर्देश दिया गया है कि वे मास्क पहनकर ही परीक्षा केंद्रों पर आएं।
  • निरीक्षकों को भी परीक्षा केंद्र में मोबाइल रखने की अनुमति नहीं होगी।
  • परीक्षा केंद्रों पर मास्क भी उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने के लिए पेन व अन्य चीजें किसी से शेयर न करें।

17 फरवरी 2022 से 24 फरवरी 2022 तक आयोजित होगी परीक्षा

बिहार बोर्ड 10वीं परीक्षा 2022 की परीक्षा बिहार बोर्ड द्वारा 17 से 24 फरवरी, 2022 तक आयोजित की जाएगी। वहीं, बीएसईबी 10वीं परीक्षा 2022 में 16,48,894 उम्मीदवार शामिल होंगे। इसके लिए 1525 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। राज्य भर में। बता दें कि छात्रों की संख्या 8,42,189 और छात्राओं की संख्या 8,06,705 है। जबकि परीक्षा प्रतिदिन दो पालियों में ली जाएगी। दोनों पालियों में एक ही विषय की परीक्षा होगी। 8,27,288 उम्मीदवार फर्स्ट सिटिंग में और 8,21,606 सेकेंड सिटिंग में शामिल होंगे।

bihar board matric exam start date 2022

अगर आपका एडमिट कार्ड छूट जाये, तो ऐसे मिलेगा प्रवेश

आपको बता दें कि अगर किसी उम्मीदवार का प्रवेश पत्र गुम हो जाता है या घर पर रह जाता है तो ऐसी स्थिति में उसे उपस्थिति पत्रक में स्कैन की गई फोटो से पहचान कर परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। रोल शीट। वहीं परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय से लेकर परीक्षा हॉल में बैठने तक तीन बार तलाशी ली जाएगी। प्रवेश के समय पहली बार उम्मीदवार की तलाशी ली जाएगी, उसके बाद परीक्षा हॉल में जाते समय और फिर सीट पर बैठने के बाद उसकी तलाशी ली जाएगी।

एक घंटे बाद ली जाएगी ओएमआर शीट

बिहार बोर्ड के मुताबिक परीक्षा शुरू होने के डेढ़ घंटे बाद ओएमआर शीट वापस ले ली जाएगी। यानी पहली पाली सुबह 9:30 बजे से दोपहर 12:45 बजे तक चलेगी। इसमें सुबह 11 बजे ओएमआर शीट ली जाएगी। वहीं, उत्तर पुस्तिकाओं का संग्रह दोपहर 12:45 बजे किया जाएगा। दूसरी पाली दोपहर 1:45 बजे से शाम 5:00 बजे तक चलेगी। इसमें दोपहर 03:15 बजे ओएमआर शीट ली जाएगी। वहीं इस पाली में शाम पांच बजे तक उत्तरपुस्तिका का संग्रहण किया जाएगा। जिन विषयों की परीक्षा पहली बैठक में दोपहर 12:15 बजे तक चलेगी, उनकी ओएमआर शीट सुबह 10:45 बजे तक ली जाएगी। जिस विषय की सेकेंड सिटिंग परीक्षा शाम साढ़े चार बजे तक होगी उसकी ओएमआर शीट दोपहर तीन बजे ली जाएगी।

एडमिट कार्ड है जरूरी

बिना एडमिट कार्ड के छात्रों को बिहार बोर्ड परीक्षा केंद्रों में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। एडमिट कार्ड पर लगे फोटो से छात्रों के चेहरे का मिलान किया जाएगा। एडमिट कार्ड के लिए बिहार बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं।

रोल नंबर के अनुसार प्रश्न पत्र दिए जाएंगे

परीक्षा के दौरान उम्मीदवार के रोल नंबर के अनुसार प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका वितरित की जाएगी। परीक्षा शुरू होने से पहले सभी पर्यवेक्षकों को इसका मिलान करना होगा।

ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट परीक्षा में 105 परीक्षा केंदों पर 46988 छात्र होंगे शामिल

ओएमआर और आंसर शीट पर होगी अभ्यर्थी की फोटो

बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में छात्र की फोटो ओएमआर आंसरशीट और आंसर शीट दोनों पर होगी। निरीक्षक आसानी से छात्र के चेहरे का फोटो से मिलान कर सकेगा। इसके अलावा उपस्थिति व अनुपस्थिति पत्रक पर छात्र की फोटो भी लगेगी। इससे फर्जी तरीके से परीक्षा दे रहे छात्र को आसानी से पकड़ा जा सकता है.

छात्र ऐसा न करें, नहीं तो परीक्षाएं रद्द हो जाएंगी

बिहार के बोर्ड परीक्षा केंद्र में मोबाइल, ब्लू टूथ समेत किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक गजट के इस्तेमाल पर पहले से ही रोक दी गयी है। बिहार बोर्ड प्रशासन ने अपने दिशा-निर्देशों में स्पष्ट किया है, कि यदि कोई उम्मीदवार परीक्षा के दौरान उत्तर पुस्तिका या ओएमआर शीट पर व्हाइटनर, इरेज़र या नाखून का उपयोग करता है, तो उसकी परीक्षा रद्द कर दी जाएगी।

100 प्रतिशत अतिरिक्त प्रश्नों का विकल्प मिलेगा

बिहार बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर ने कहा कि इस बार भी सभी विषयों में 100 फीसदी अतिरिक्त प्रश्न दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसमें ऑब्जेक्टिव के साथ-साथ सब्जेक्टिव प्रश्न होते हैं। जितने प्रश्न होंगे, प्रत्येक प्रश्न के लिए एक विकल्प होगा। इससे छात्रों को उत्तर देने में आसानी होगी। उन्होंने बताया कि हर परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, वहीं कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए हर परीक्षा केंद्र पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी।

प्रति 500 छात्रों पर एक वीडियोग्राफर

बिहार बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि प्रत्येक केंद्र पर प्रत्येक 500 परीक्षार्थियों के लिए एक वीडियोग्राफर की व्यवस्था की गई है। हर परीक्षा केंद्र के अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। प्रत्येक 25 छात्रों पर एक पर्यवेक्षक होगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक निरीक्षक परीक्षा प्रारंभ होने से प्रतिदिन प्रतिदिन घोषणा पत्र लेगा।

बिहार बोर्ड मैट्रिक के परीक्षार्थियों का टीकाकरण अनिवार्य

17 फरवरी 2022 से शुरू होने वाली मैट्रिक की परीक्षा में शामिल होने वाले सभी उम्मीदवारों को अनिवार्य रूप से कोविड का टीका लगाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने परीक्षा से 15 से 18 वर्ष पूर्व मैट्रिकके अभ्यर्थियों को अनिवार्य टीकाकरण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी डीएम और सिविल सर्जनों को जारी निर्देश में कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जरूरी है कि परीक्षा से पहले अभ्यर्थियों का टीकाकरण किया जाए।

मार्च महीने के पहले हफ्ते से से शुरू होगा 10वीं कॉपियों का मूल्यांकन

जानकारी के अनुसार 5 मार्च से मैट्रिक परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन किया जाएगा, जो 17 मार्च तक चलेगी। शासन के निर्देश पर जिला मुख्यालयों में ही मूल्यांकन केंद्र बनाए जाएंगे। प्रत्येक मूल्यांकन केंद्र पर 100 से 250 परीक्षक तैनात किए जाएंगे।

Leave a comment