BPSC Exam 2023 Started: बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा 2023 आज से शुरू, परीक्षा केंद्र के 1 घंटे पहले बंद होंगे गेट, इन बातों का रखें ध्यान

बिहार में देश की सबसे बड़ी शिक्षक भर्ती परीक्षा की प्रशासनिक तैयारी पूरी हो चुकी है. बिहार पहला राज्य है जहां एक साथ 1,70, 461 शिक्षकों की बहाली होगी। परीक्षा (बिहार शिक्षक परीक्षा 2023) 24 अगस्त 2023 से 26 अगस्त 2023 तक दो पालियों में आयोजित की जाएगी। इसमें 8.15 लाख अभ्यर्थी शामिल होंगे, राज्य भर में 850 केंद्र बनाए गए हैं। पटना में सर्वाधिक 40 केंद्रों पर 50 हजार अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

BSEB Bihar STET 2023 Exam को लेकर Bihar Public Service Commission (BPSC) ने अलर्ट कर दिया है। BPSC Exam 2023 को कदाचारमुक्त बनाने के लिए जिला व पुलिस प्रशासन को निर्देश दिया गया है, सभी केंद्रों पर धारा 144 लागू रहेगी। हर केंद्र पर पर्यवेक्षक रहेंगे। परीक्षा केंद्र के 100 गज के दायरे में किसी को भी रहने की इजाजत नहीं होगी।

BPSC परीक्षा को लेकर अफवाह फैलाने वालों पर विशेष नजर रखी जायेगी। खासकर फर्जी प्रश्न पत्र वायरल करने वाले गिरोह पर प्रशासन की विशेष नजर रहेगी, अभ्यर्थियों को अफवाहों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा गुरुवार से शुरू

बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा 24 अगस्त 2023 से 26 अगस्त 2023 तक शिक्षक भर्ती परीक्षा का आयोजन किया जाना है। यह परीक्षा बिहार में 1.7 लाख पदों पर भर्ती के लिए होनी है। आयोग ने परीक्षा के संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किए हैं, जिनका पालन करना सभी उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य है। इनमें एडमिट कार्ड और कदाचार शामिल हैं।

आयोग के निर्देश पर परीक्षा को कदाचारमुक्त बनाने के लिए जिला प्रशासन स्तर से सारी तैयारी पूरी कर ली गयी है। तैयारी और सख्ती का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सभी केंद्रों के बाहर और चंद कदम की दूरी पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, ताकि परीक्षा के दौरान न तो अंदर से कोई गड़बड़ी हो सके और न ही बाहर से कोई कुछ करने की हिम्मत कर सके।

BPSC परीक्षा केंद्र के 1 घंटे पहले बंद होंगे गेट

बिना अनुमति के केंद्र से बाहर नहीं जा सकते। प्रश्न पत्र सीधे परीक्षा हॉल में भेजा जाएगा। वहां इसे अभ्यर्थियों के सामने खोला जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

परीक्षा समाप्त होने के बाद ओएमआर सीट सील कर दी जाएगी। पूरी प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग होगी। इस बार आयोग ने ओएमआर बॉक्स को सील करने के लिए जैकेट तैयार की है। परीक्षा समाप्त होने के बाद भी अभ्यर्थी पर्यवेक्षक की अनुमति के बिना बाहर नहीं जा सकते। छात्रों को केवल काले, नीले बॉल पेन और सफेद बॉल पेन के साथ परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। सभी तरह के इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स पर रोक रहेगी।

ये जानना आपके लिए हैं जरूरी

  • पहली पाली में सुबह 7:30 बजे से और दूसरी पाली में दोपहर 1:00 बजे से अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों पर प्रवेश दिया जाएगा।
  • अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर ढाई घंटे पहले पहुंचना होगा, चेक इन करने के बाद एक घंटे पहले परीक्षा हॉल में प्रवेश दिया जाएगा।
  • पेपर शुरू होने से एक घंटे पहले गेट बंद कर दिए जाएंगे।
  • सभी अभ्यर्थियों को प्रत्येक पाली में परीक्षा केंद्र पर ई-प्रवेश पत्र की एक अतिरिक्त प्रति अपने साथ ले जाना अनिवार्य होगा। उन्हें परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षक के सामने हस्ताक्षर करना होगा।
  • अभ्यर्थियों को अपने ऑनलाइन आवेदन में भरे गए मूल फोटो पहचान पत्र साथ लाना सुनिश्चित करना होगा।
  • यह परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकृति की होगी। अभ्यर्थियों को मार्कर परीक्षा कक्ष में ले जाना वर्जित है।
ये भी पढ़ें:  CBSE 10th 12th Result 2024 Date Soon: सीबीएसई 10वीं 12वीं के रिजल्ट की तारीख जल्द होगी जारी, जानिए रिजल्ट पर बड़ा अपडेट

परीक्षा में बायोमेट्रिक उपस्थिति दर्ज की जायेगी, आईरिस के मिलान के साथ ही एडमिट कार्ड का भी मिलान किया जाएगा। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर ढाई घंटे पहले पहुंचना होगा, परीक्षा कक्ष में प्रवेश एक घंटा पहले दिया जाएगा।

परीक्षा में 8 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल होंगे

बिहार में 1 लाख 70 हजार 461 पदों पर शिक्षकों की भर्ती के लिए परीक्षा हो रही है, तीन दिनों तक चलने वाली इस परीक्षा में कुल आठ लाख 15 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे. इसके लिए BPSC ने पूरे बिहार में 850 केंद्र बनाए हैं।

वहीं, पहली पाली के लिए सुबह 7.00 बजे और दूसरी पाली के लिए दोपहर 1.00 बजे अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर प्रवेश दिया जाएगा।

पहली पाली की परीक्षा सुबह 10:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक होगी, जबकि दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 3:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक होगी। परीक्षा हॉल में एक बेंच पर दो से अधिक अभ्यर्थी नहीं बैठेंगे. एक बेंच से दूसरे बेंच की समानांतर दूरी कम से कम 3 फीट होनी चाहिए। परीक्षा में उपस्थित होने के लिए ई-प्रवेश पत्र मान्य है। अभ्यर्थियों को प्रत्येक पाली में एक अतिरिक्त ई-प्रवेश पत्र के साथ उपस्थित होना होगा, जिस पर हस्ताक्षर करके परीक्षा अवधि के दौरान पर्यवेक्षक को सौंपना होगा।

कदाचार में पकड़े गए तो ये सज़ा

आयोग ने अपने दिशानिर्देशों में यह स्पष्ट कर दिया है कि परीक्षा केंद्र परिसर में मोबाइल फोन, कैलकुलेटर, ब्लूटूथ, वाई-फाई गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक पेन, पेजर और घड़ी जैसी इलेक्ट्रॉनिक सामग्री ले जाना/उपयोग करना प्रतिबंधित रहेगा। परीक्षा कक्ष में इलेक्ट्रॉनिक सामग्री ले जाने को कदाचार मानते हुए संबंधित परीक्षार्थी के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यानि ऐसे अभ्यर्थी को इस परीक्षा के साथ-साथ अगले पांच वर्षों के लिए आयोग की परीक्षाओं से वंचित कर दिया जाएगा।

साथ ही परीक्षा से संबंधित भ्रामक जानकारी तथा सनसनीखेज अफवाह फैलाने की स्थिति में तीन वर्षों के लिए और संबंधित परीक्षार्थी को तीन वर्षों के लिए आयोग की परीक्षाओं से वंचित किया जाएगा

WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

Leave a comment