Bihar Board Calendar 2024 & BSEB Holiday Calendar 2024: बिहार के सरकारी स्कूलों में छुट्टियों का कैलेंडर जारी, अगले साल सरकारी स्कूलों में रहेंगी 60 दिन की छुट्टियां

Bihar Education Department & bseb holiday calendar 2024 ने बिहार के उर्दू और हिंदी सरकारी स्कूलों में साल 2024 की छुट्टियों की सूची जारी कर दी है। शिक्षा विभाग के आदेश में कहा गया है कि अवकाश तालिका जारी करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा गया है कि, शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत निर्धारित दायित्वों का पालन किया जाएगा।प्राथमिक विद्यालयों में कम से कम 220 दिन शिक्षण होना चाहिए।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिहार शिक्षा विभाग ने इस बार छुट्टियों में भारी कटौती की गई है। पहले महापुरुषों की जयंती पर कोई छुट्टी नहीं होती थी, लेकिन अब इस दिन को छुट्टियों की सूची में शामिल कर लिया गया है। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि यह दिन हर हाल में स्कूल में मनाया जाना है। हरतालिका तीज, जितिया, भाई दूज, रक्षाबंधन, मकर संक्रांति की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं, साथ ही कई पत्ते भी काट दिए गए हैं।

BSEB Holiday Calendar 2024 बिहार सरकारी स्कूल की छुटियाँ

220 दिन खुले रहेंगे स्कूल

BSEB Holiday Calendar 2024 में छुट्टियों को लेकर शिक्षा विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है, प्राथमिक विद्यालयों में कम से कम 220 दिन पढ़ाई होनी है। शिक्षा विभाग का कहना है कि नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मचारी घोषित करने की प्रक्रिया चल रही है, इसलिए उन पर भी BSEB Holiday Calendar 2024 लागू होंगी।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

शिक्षा विभाग की छुट्टियों के बीच भाई-बहन के प्यार के प्रतीक त्योहार रक्षाबंधन की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई हैं। दशहरा के पहले दिन घोषित छुट्टी भी रद्द कर दी गई है, पहले 6 दिन की छुट्टी थी, जिसे घटाकर 3 दिन कर दिया गया है।

30 दिनों की गर्मी छुट्टी

बिहार शिक्षा विभाग की अवकाश तालिका 2024 में ग्रीष्मकालीन अवकाश 15 अप्रैल 2024 से 15 मई 2024 तक रखा गया है। यह भी निर्देश दिया गया है कि यह अवकाश केवल छात्रों के लिए है। अवकाश के दौरान विद्यालय के प्रधानाध्यापक, शिक्षक एवं शिक्षिकाएं सरकारी कैलेंडर के अनुसार विद्यालय आयेंगे. ग्रीष्मावकाश के दौरान अभिभावक-शिक्षक बैठक भी आयोजित की जाएगी।

इसके अलावा कमजोर विद्यार्थियों के लिए विशेष कक्षाएं होंगी, विशेष कक्षाओं के साथ-साथ विशेष परीक्षाएं भी ली जाएंगी।

हिंदी विद्यालय की छुटियाँ

हिंदी स्कूल में रक्षाबंधन पर कोई छुट्टी नहीं दी गई है, गुरु गोबिंद सिंह, गणतंत्र दिवस, बसंत पंचमी, संत रविदास जयंती, शब-ए-बारात, महाशिवरात्रि, बिहार दिवस, गुड फ्राइडे, भीमराव अंबेडकर जन्मदिन, ईदु उल फितर (ईद), जानकी नवमी, बुद्ध पूर्णिमा, ईद उल जुहा (बकरीद) ), कबीर जयंती, मुहर्रम, स्वतंत्रता दिवस, चेहल्लुम, जन्माष्टमी, हजरत मोहम्मद साहब का जन्मदिन, दुर्गा पूजा, दिवाली, चित्रगुप्त पूजा, भाई दूज, क्रिसमस पर 1 दिन की छुट्टी।

होली, दुर्गा पूजा पर 2 दिन और छठ पूजा पर 3 दिन की छुट्टी दी गई है, 30 दिन की गर्मी की छुट्टी दी गई. ग्रीष्मकालीन अवकाश 30 दिन का दिया जाता है। यह केवल विद्यार्थियों के लिए है। ग्रीष्मावकाश के दौरान भी प्रधानाध्यापक व BSEB Holiday Calendar 2024 को विद्यालय में उपस्थित रहना होगा।

उर्दू विद्यालय की छुटियाँ

गुरु गोबिंद सिंह जन्मदिन, गणतंत्र दिवस, संत रविदास जयंती, बिहार दिवस, गुड फ्राइडे, भीमराव अंबेडकर जन्मदिन, शब-ए-बारात, बुद्ध पूर्णिमा, कबीर जयंती, स्वतंत्रता दिवस, हजरत मोहम्मद साहब जन्मदिन, उर्दू विद्यालय में दुर्गा पूजा (सप्तमी) बिहार का, दिवाली, क्रिसमस और चेहल्लुम पर 1 दिन की छुट्टी दी गई है।

वहीं, होली, मोहर्रम और दुर्गा पूजा पर 2 दिन की छुट्टी दी गई है, ईद उल फितर (ईद) में 3 दिन की छुट्टी दी गई है, ईद उल जुहा (बकरीद) में 3 दिन की छुट्टी दी गई है, छठ पूजा के लिए तीन दिनों की छुट्टी दी गई है, इसके अलावा 15 अप्रैल से 15 मई तक 30 दिनों का ग्रीष्मकालीन अवकाश दिया गया है।

महापुरुष की जयंती मनाने का निर्देश

बिहार शिक्षा विभाग ने अपने निर्देश में कहा है कि किसी भी सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल अपनी मर्जी से स्कूल की छुट्टियां घोषित नहीं करेंगे।

अगर वे ऐसा करते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. इसके अलावा स्कूलों में वार्षिक उत्सव जैसे गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस, गांधी जयंती और अन्य महापुरुषों की जयंती भी अनिवार्य रूप से मनाई जाएगी। इसको लेकर सख्त निर्देश जारी किये गये हैं।

शिक्षकों और अभिभावकों में नाराजगी

नियोजित शिक्षकों का कहना है कि नियोजित शिक्षक पहले से ही नियमित शिक्षकों की तरह काम कर रहे हैं। हजारों नियोजित शिक्षक भी बिना नियमित हुए रिटायर हो गये हैं. पहले भी अवकाश तालिका का पालन किया जाता था। मजदूर दिवस, वट सावित्री जैसे हिंदू धर्म के कई बड़े त्योहारों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं।

इस अवकाश तालिका को लेकर शिक्षकों में आक्रोश है, स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक भी शिक्षा विभाग के फैसले से नाराज हैं।

मुस्लिम अवकाश की तिथि में परिवर्तन संभव

शिक्षा विभाग के इस निर्देश के अनुसार सप्ताह के शनिवार को भोजनावकाश के बाद शिक्षण कार्य किया जायेगा। अभिभावकों के साथ बैठक एवं बाल संसद का भी आयोजन किया जायेगा। शिक्षा विभाग ने कहा है कि चांद दिखने के आधार पर मुस्लिम अवकाश की तारीख में बदलाव हो सकता है, जिसकी अधिसूचना जारी की जायेगी. यदि कोई स्कूल मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में है और उर्दू स्कूल की तरह शुक्रवार को साप्ताहिक अवकाश घोषित करना चाहता है तो वह स्थानीय स्तर से अनुमति लेकर इसकी घोषणा कर सकता है। इसके बजाय रविवार को कक्षाएं संचालित की जाएंगी।

WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

Leave a comment