Fauquania Maulvi Exam 2023: बिहार में फौक्वानिया और मोलवी की परीक्षा शुरू, केंद्र में स्मार्ट वॉच पर रोक, पढ़ें गाइडलाइन

Bihar State Madrasa Education Board Patna ने फौकानिया और मौलवी परीक्षा 10 जुलाई 2023 से शुरू कर दी है। छात्रों को परीक्षा केंद्र पर आधे घंटे पहले पहुंचना होगा, इसके साथ ही यहां स्मार्ट वॉच पहनने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बता दें कि इस साल फौकानिया परीक्षा में कुल 58363 अभ्यर्थी शामिल हो रहे हैं, जिसमें 19574 लड़के और 38789 लड़कियां हैं। इस साल गैर-मुस्लिम उम्मीदवारों की संख्या 66 है। मौलवी श्रेणी में कुल 37718 उम्मीदवार परीक्षा दे रहे हैं। मौलवी में नये पाठ्यक्रम के अनुसार कुल 8404 परीक्षार्थी हैं, जिनमें 2795 लड़के और 5609 लड़कियां हैं।

मौलवी विज्ञान में कुल 3516 परीक्षार्थी हैं, जिनमें 1366 लड़के और 2150 लड़कियां हैं। मौलवी कॉमर्स में कुल 220 छात्रों में से 96 लड़के और 124 लड़कियां हैं। इस तरह दोनों श्रेणियों को मिलाकर 95081 छात्र मौलवी परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। परीक्षा केंद्र में मोबाइल, कैलकुलेटर, नोटबुक, ईयरफोन आदि प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके साथ आने वाले छात्रों को परीक्षा से निष्कासित कर दिया जाएगा। परीक्षा में बिहार बोर्ड के नियम लागू कर दिये गये हैं।

बिहार में फौक्वानिया और मोलवी की परीक्षा के नियम

बिहार बोर्ड फौकानिया (10वीं) और मौलवी (12वीं) परीक्षा के दौरान छात्रों के स्मार्ट घड़ी पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सभी परीक्षार्थियों को आधे घंटे पहले तक केंद्र पर प्रवेश मिलेगा. परीक्षा में मोबाइल, कैलकुलेटर, नोटबुक, ईयरफोन आदि लेकर जाने वाले को निष्कासित कर दिया जाएगा। बिहार राज्य मदरसा बोर्ड ने गाइडलाइन जारी की है, परीक्षा में बिहार बोर्ड के कई नियम लागू किये गये हैं।

फौकानिया और मौलवी परीक्षा में एक बेंच पर एक ही परीक्षार्थी बैठेगा। परीक्षा केंद्र के अंदर अभ्यर्थियों की तीन बार जांच की जाएगी।इंस्पेक्टर एक बार मुख्य द्वार पर और दो बार जांच करेंगे। छात्रों को प्रवेश पत्र और पेन के साथ प्रवेश मिलेगा। फौकानिया और मौलवी की परीक्षा 10 से 15 जुलाई तक ली जायेगी. पहली पाली 8.45 से 12 बजे तक और दूसरी पाली 1.45 से पांच बजे तक संचालित होगी। प्रत्येक पाली में प्रश्न पत्र पढ़ने के लिए 15 मिनट का समय दिया जाएगा।

उत्तर पुस्तिका में संकाय और विषय भी भरने होंगे मदरसा बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक डॉ. नूर इस्लाम ने बताया कि इस बार से परीक्षा नये पाठ्यक्रम पर हो रही है। इसमें चार संकाय मौलवी विज्ञान, मौलवी कला, मौलवी वाणिज्य और इस्लामियात शामिल हैं। छात्रों को परीक्षा के दौरान उत्तर पुस्तिका पर संकाय के साथ विषय का नाम भी लिखना होगा। इसके अलावा हिंदी, अंग्रेजी और फारसी भाषा में से किसी एक चयनित भाषा में परीक्षा देनी होगी।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

परीक्षा खत्म होने के बाद ही आप बाहर जा सकेंगे, परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद तक उत्तर पुस्तिका पर्यवेक्षक को वापस नहीं की जा सकती। पूरी परीक्षा समाप्त होने के बाद ही आपको कमरे से बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी। नये पाठ्यक्रम के अनुसार वस्तुनिष्ठ, लघु उत्तरीय एवं दीर्घ उत्तरीय प्रश्न पूछे जायेंगे। पहली बार वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जायेंगे।

ये भी पढ़ें:  Bihar Sakshamta Pariksha में 3 बार फेल होने पर क्या होगा, केके पाठक द्वारा उठाया गया ये कदम

फौकानिया में कुल 10 विषय

फौकानिया परीक्षा 10 जुलाई 2023 से 15 जुलाई 2023 तक ली जाएगी, पहली पाली 8.45 से शुरू होगी, जो दोपहर 12 बजे तक चलेगी। वहीं, दूसरी पाली 1.45 बजे से पांच बजे तक संचालित की जाएगी, नये पाठ्यक्रम के तहत वर्ग फौकानिया में 10 विषयों को रखा गया है।

कक्षा मौलवी के पास चार संकाय होते हैं। मौलवी कला, मौलवी विज्ञान, मौलवी वाणिज्य, मौलवी इस्लामियत। प्रायोगिक परीक्षा में केवल मौलवी कला में गृह विज्ञान (70:30) एवं मौलवी विज्ञान में प्रैक्टिकल फिजिक्स (70:30), रसायन विज्ञान (70:30) की प्रायोगिक एवं लिखित परीक्षा ली जायेगी।

WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

Leave a comment