[IGRSUP 2021] यूपी सम्पत्ति पंजीकरण — विवाह पंजीकरण | उत्तरप्रदेश रजिस्ट्रेशन एवं स्टाम्प विभाग @ igrsup.gov.in

IGRSUP 2021: नमस्कार दोस्तों, आपको आज हम यूपी सम्पत्ति पंजीकरण-प्रॉपर्टी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी देंगे। आप यकीं करें के आपको ये पूरा पोस्ट पढ़ने के बाद, आप यूपी सम्पति पंजीकरण के बारे में पूरी जानकारी एकदम विस्तार से जान पाएंगे।

आज हम आपको पुरे विस्तार से बताएंगे की आप किस प्रकार घर बैठे ही बड़ी ही आसानी से आप [ऑनलाइन] Online IGRSUP office login, igrsup officer login,search property igrsup, igrsup index, igrsup sign इन का पूरा लाभ उठा सकते हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने यूपी उत्तर प्रदेश संपत्ति पंजीकरण ऑनलाइन कर दिया है।

उत्तर प्रदेश स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग (IGRSUP) ने उत्तर प्रदेश के निवासियों के लिए विभिन्न प्रकार की ऑनलाइन सेवाएं, जैसे विवाह पंजीकरण, अचल संपत्ति पंजीकरण, भार मुक्त प्रमाण पत्र 12साला एवं विलेखो प्रमाणित प्रतिलिपि, स्थायी जनता के लिए उपलब्ध कराता है।

UP के आम निवासियों जो इन सभी सरकारी सेवाओं का फायदा उठाना चाहते हैं। वह अपने लेख पत्र को इस आधिकारिक वेबसाइट के द्वारा खुद से भी तैयार कर सकते हैं। तथा जनसामान्य द्वारा igrsup वेबसाइट पर उपलब्ध सेवाओ हेतु आवेदन अपने निकटतम जन सेवा केन्द्रो (CSCs) के माध्यम से भी निर्धारित शुल्क अदा कर किया जा सकता है।

तो चलिए दोस्तों अब हम आपको इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देने की कोशिस करते हैं।

IGRSUP पोर्टल क्या है? – इसका फायदा कैसे उठाया जा सकता हैं?

What's In This Post?

IGRSUP, प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में क्रांति और संचार के बढ़ते साधनों के बीच, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का उद्देश्य उत्तर प्रदेश के लोगों को सभी सुविधाएं प्रदान करना है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कई ऐसी योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनके माध्यम से बड़े और कठिन कार्यों को आम जनता के लिए सरल बनाया जा सके।

इस तरह, ऑनलाइन पोर्टल को माध्यम बनाकर, सरकार बहुउद्देश्यीय योजना से सभी को लाभान्वित करना चाहती है! यह सरकार की नीति है कि सभी सार्वजनिक उपयोगिता विभागों के कार्यों को जनता के बीच स्पष्ट रूप से रखा जाना चाहिए, और इस कड़ी में IGRSUP में एक और नाम जोड़ा गया है।

तो चलिए जानते हैं कि IGRSUP.COM क्या है? और इसका लाभ कैसे लिया जा सकता हैं?

एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश मूल रूप से उत्तरप्रदेश राज्य के स्थायी नागरिकों की शिकायतों के निवारण के लिए एक एकीकृत प्रणाली की शुरुआत की गयी है। इस सेवा के माध्यम से, लोग अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

अपनी IGRS स्थिति को ट्रैक [Track] भी कर सकते हैं, सरकार को अपनी प्रतिक्रियाएं दे सकते हैं। जनसुनवाई यूपी स्थिति @ jansunwai.up.nic.in नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से देखी जा सकती है।

इस योजना की शुरुआत 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा लॉन्च किया गया था। यह एक ऑनलाइन प्रणाली है जो पारदर्शिता की सुविधा प्रदान करती है, और उत्तर प्रदेश के राज्य के स्थायी नागरिकों के प्रति सरकारी विभागों की जवाबदेही सुनिश्चित करती है।

IGRSUP शिकायत और ट्रैक की स्थिति: इस पोर्टल के माध्यम से, जनता इस आम ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से किसी भी सरकारी विभाग से संबंधित अपनी शिकायतों और शिकायतों को आसानी से दर्ज कर सकते है।

इस एकीकृत प्रणाली को जनसुनवाई पोर्टल के रूप में जाना जाता है। लोग किसी भी समय और किसी भी स्थान से अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।

उन्हें अपनी शिकायतों को उठाने और शिकायतें दर्ज करने के लिए विभिन्न सरकारी विभागों और कार्यालयों का दौरा करने की आवश्यकता नहीं है।

योजना के शुरू होने से पहले पहले विवाह/शादी पंजीकरण और उत्तरप्रदेश स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन के लिए विभाग दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे। लेकिन अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा ऑनलाइन पोर्टल की सुविधा कर दी गयी है।

उत्तरप्रदेश सरकार और रजिस्ट्रेशन विभाग के द्वारा अन्य प्रकार के लेखपत्र आदि के रजिस्ट्री का कार्य और उनका आरक्षण कार्य किया जाता है।

IGRSUP यूपी सम्पत्ति पंजीकरण | @ igrsup.gov.in

Scheme NameIntegrated Grievance Redressal System (IGRS), UP
DepartmentUttar Pradesh Stamp and Registration Department
BeneficiaryAll Residents Of The Uttar Pradesh State
ObjectiveReducing Corruption & Promote Transparency Between Government and Citizens
Scheme StatusYes! Available ?
Date Of ApplicationAlways! Open ?
Registration Last Date No Last Date ?
Application TypeOnline
Official Websitehttps://igrsup.gov.in।↗

Apply Process for Property Registration in IGRS UP Portal

भारतीय स्टाम्प अधिनियम के मुताबिक लेखपत्रों की निर्धारित स्टाम्प शुल्क [Stamp Price] भी लेता है। स्टाम्प शुल्क राजस्व प्राप्त करने के लिए UP सरकार का एक मुख्य स्रोत है। उत्तरप्रदेश के आम स्थायी लोग लेखपत्रों को IGRSUP की आधिकारिक वेबसाइट [Official Website] के माध्यम से खुद भी तैयार कर सकते है।

ये भी पढ़ें:   Bihar Board 9th Result 2022 | Online BSEB IX Marksheet

और जनसामान्य द्वारा IGRSUP के आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध सेवाओं के लिए आवेदन अपने निकटतम जनसेवा केन्द्रो के द्वारा से भी निर्धारित शुल्क अदा किया जा सकता है।

तो दोस्तों, इस पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको IGRSUPUP सम्पत्ति एवं विवाह पंजीकरण से जुड़ी सभी सेवाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करने जा रहे है।

Purpose of IGRS UP Portal

  • स्टांप और पंजीकरण विभाग की सभी सुविधाएं इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के नागरिकों के लिए ऑनलाइन उपलब्ध हैं।
  • उत्तर प्रदेश सरकार और नागरिकों के बीच पारदर्शिता को बढ़ावा देना।
  • पहले लोगों को अपनी संपत्ति पंजीकृत करने के लिए सरकारी कार्यालयों का दौरा करना पड़ता था, लेकिन अब लोग घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से उत्तर प्रदेश राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आसानी से पंजीकरण कर सकते हैं।
  • इस अतिरिक्त सुविधा के शुरू होने से यूपी के नागरिकों का समय भी बचेगा।

Five Property Registration Facilities – यूपी सम्पत्ति पंजीकरण के पाँच फायदें

उत्तर प्रदेश के जो स्थायी नागरिक सम्पति पंजीकरण करने हेतु आवेदन करना चाहते है, तो वह सबसे पहले IGRSUP की Official Website https://igrsup.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करें। स्टाम्प एवं पंजीकरण विभाग उत्तरप्रदेश सम्पति पंजीकरण के तहत कुल पांच तरह की फायदें उपभोगता के लिए उपलब्ध कराता है।

यूपी सम्पत्ति पंजीकरण के यह सभी फायदें निम्नलिखित हैं

  • औद्योयोगिकी सम्पति पंजीकरण हेतु निवेश मित्र वेबसाइट
  • ऑनलाइन आवेदन की सुविधा
  • सम्पति पंजीकरण हेतु अप्वाइंटमेंट की सुविधा
  • सम्पति का सम्पूर्ण विवरण
  • सम्पति को ऑनलाइन खोजने की सुविधा

विवाह एवं संपत्ति रेजिस्ट्रीकरण अधिनियम पंजीकरण के अंतर्गत रजिस्टर्ड मंडलो की सूची

उत्तर प्रदेश में रेजिस्ट्रीकरण अधिनियम के अंतर्गत रेजिस्ट्रीकरण मंडलो की सूची निम्न प्रकार है जैसे इलाहबाद, सहारनपुर, मिर्ज़ापुर, कानपुर, गोरखपुर, चित्रकूट, आगरा, सीतापुर, झांसी, वाराणसी, मेरठ, लखनऊ, देवीपाटन मॉडल, फैजापुर, बस्ती, आजमगढ, बरेली, गौतमबुद्ध नगर, मुरादाबाद, अलीगढ, आदि

यूपी IGRSUP विवाह पंजीकरण – Marriage Registration In Uttar Pradesh

उत्तरप्रदेश का कोई भी निवासी चाहे वह हिन्दू हो, मुस्लिम हो, सिख हो, या ईसाई हो या फिर वो किसी भी धर्म, जाति, संप्रदाय से हो। अब कोई भी बड़ी ही आसानी से ऑनलाइन ही घर बैठे, संपत्ति एवं विवाह पंजीकरण करा सकता है।

राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी इस ऑनलाइन पोर्टल से अब स्टांप एवं रजिस्ट्रेशन विभाग की सारी सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध हो गयी हैं, जिससे सुविधाओं का फायदा लेने में पारदर्शिता भी आई हैं।

अब यूपी विवाह पंजीकरण की सुविधा भी स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध हो गया है। उत्तर प्रदेश के इक्छुक स्थायी निवासी इस योजना के अंतर्गत ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर बहुत ही सरलतापूर्वक से ऑनलाइन विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते है।

और इसके साथ ही आधार कार्ड के अनुसार विवाह पंजीकरण की पुष्टि भी कर सकते है।

उत्तर प्रदेश राज्य के प्रत्येक इक्छुक जोड़ी नेट बैंकिंग के जरिये से लागत आवेदन मूल्य का का ट्रांसफर करके ऑनलाइन आधार आधारित यूपी विवाह प्रमाण पत्र के लिए अप्लाई कर सकते है उन्हें इस विवाह प्रमाणपत्र में दूल्हा तथा दुल्हन का पूरा जानकारी जैसे, पिता का नाम, माता का नाम, विवाह का तारीख आदि देनी होगी।

अब नागरिकों को विवाह सर्टिफिकेट लेने के लिए भागदौड़ करने की या किसी भी प्रकार के कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इक्छुक लोग केवल स्टाम्प एवं रेजिस्टशन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन UP Marriage Registration फॉर्म भर कर लोग बहुत ही आसानी अपनी शादी की प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकते है।

इसके आधार पर विवाह पंजीकरण प्रकिया में पहले से विवाहित जोड़ो को भी “विवाह पंजीकरण” प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा। इसके साथ ही आप आधिकारिक वेबसाइट से अपनी विवाह पंजीकरण या संपत्ति पंजीकरण प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकेंगे।

IGRS यूपी सम्पति पंजीकरण केआवश्यक दस्तावेज़ (पात्रता मानदंड)

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए |
  • निवास प्रमाण पत्र
  • सम्पति को बेचने और खरीदने वाले लाभार्थी के पहचान पत्र
  • आवेदन पत्र की प्रति
  • गवाहों के पहचान पत्र
  • भूमि/जमीन/संपत्ति के कागज़ात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • निवास प्रमाण पत्र

How To Apply for IGRS UP Property Registration?

सभी इक्छुक आवेदक जो संपत्ति का पंजीकरण करना चाहते हैं, वे वेध दस्तावेजों की उपलब्धता होने के पश्चात हमारे द्वारा निचे बताएं जा रहे चरणों का पालन करके संपत्ति पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश के स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, के आधिकारिक वेबसाइट igrsup.gov.in पर जाएँ। और हमारे द्वारा बताएं जा रहे, स्टेप्स को ध्यानपूर्वक फॉलो करें.
  • आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको संपत्ति पंजीकरण सेक्शन में “आवेदन करे” विकल्प दिखेगा, उसपर आपको क्लिक कर देना है।
IGRSUP official website
  • आपके द्वारा क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल के सामने आ जायेगा। यहाँ पर आपको “नवीन आवेदन” के बटन [विकल्प] पर क्लिक करना है
IGRSUP registration
  • अगले पेज में आपके सामने वेबसाइट में लॉगिन करने के लिए लेखपत्र पंजीकरण-नवीन आवेदन फॉर्म खुल जायेगा। अब जो पेज आपके सामने हैं आपको इस आवेदन फॉर्म में जनपद, तहसील, मोबाइल नंबर तथा पासवर्ड का चयन करके “प्रवेश करे” पर क्लिक कर देना है।
IGRSUP registration
  • इसके बाद आपके सामने आपके मोबाइल या डेस्कटॉप स्क्रीन पर संपत्ति पंजीकरण आवेदन फॉर्म खुल कर सामने आ जायेगा। यहाँ पर आपको सभी पूछी गयी, जानकारियों को दर्ज करके “आगे बढे” विकल्प पर क्लिक कर देना है।
igrsup form
  • और अंत में अपने द्वारा आवेदन फॉर्म में डाली सभी जानकारियों की पुनः ध्यानपूर्वक जाँच पड़ताल करलें, की उसमें कोई त्रुटि तो नहीं हो गयी, जांच करने के बाद आप “सुरक्षित करे” पर क्लिक कर दे।
  • सफल पंजीकरण के बाद आपको एक आवदेन नंबर मिलेगा। कृपया इस नंबर को कहीं लिख या सेव करलें ताकि इस आवेदन गतिविधियां आप भविष्य में ट्रैक कर सकें। अब अगले Step के लिए आगे बढे.
  • इसके बाद आपको एक बार लॉगिन करना होगा, ये लॉगिन आपको दिए गए आवेदन नंबर और आपके द्वारा बनाये गए पासवर्ड के माध्यम से करना होगा। और आगे की सभी जानकारी सही सही भरनी होगी और आखिर में Submit करना होगा।
ये भी पढ़ें:   CPC Exam Passing Score | Certified Professional Coding

उत्तर प्रदेश सम्पति पंजीकरण के लिए अपॉइटमेंट कैसे ले?

उत्तरप्रदेश के जो भी स्थायी नागरिको ने सम्पति पंजीकरण के ऑनलाइन आवेदन कर दिया है, तथा अब वह सम्पति पंजीकरण अपॉइटमेंट लेना चाहते है। तो हमारे द्वारा नीचे बताये तरीके का पालन करे।

  • सबसे पहले आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वहां ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होमपेज खुलेगा इस होम पेज पर आपको सम्पति पंजीकरण अपॉइटमेंट।↗ का विकल्प दिखाई देगा। तो दिए गए विकल्प पर क्लिक करे।
  • इसके बाद आपको अपने आवेदन क्रमांक [नंबर] और पासवर्ड की मदद से लॉगिन करे। लॉगिन होने के बाद सभी ज़रूरी जानकारियों को चुने और अपने सुविधानुसार अपॉइटमेंट प्राप्त करे।

उत्तर प्रदेश संपत्ति कैसे खोजें? IGRS Search Property

  • इस विकल्प के माध्यम से आप कही से भी कभी भी कुछ आसान से जानकारी प्रदान कर किसी भी सम्पति को खोज सकते है।
  • इसके लिए आपको पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। जहां वेबसाइट पर आपको Search Property के विकल्प पर क्लिक करना होगा। या आप यहां पर क्लिक कर के↗ भी IGRSUP Search Property पर आसानी से जा सकते हैं।
igrsup search property
  • आपके द्वारा विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुल जायेगा। इस नए पेज पर आपको अपनी सुविधा के हिसाब से दिए गए विकल्प में से एक विकल्प को चुने।
  • इसके बाद आपको विकल्प को चुनने के बाद फॉर्म में पूछी जा रही सभी प्रकार की आसान जानकारी जैसे सम्पति का पता, तहसील निबंधन कार्यालय, गांव आदि भरे, “विवरण देंखे” बटन पर क्लिक कर दे।

उत्तर प्रदेश सम्पति और विवाह ऑनलाइन पंजीकरण के आवेदन पत्र भरने दिशा निर्देश

  • इक्छुक आवेदक को आवेदन फॉर्म हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओ में भरना जरूरी है।
  • इक्छुक आवेदन पात्र भरने से पहले निम्नलिखित कार्य जरूर करले।
  • विवाहित जोड़े में से किसी भी एक [वर या वधु] का भारत का स्थायी निवासी होना अतिआवश्यक वर्ना आप विवाह पंजीकरण नहीं करा सकते।
  • आधिकारिक वेबसाइट में Sign Up करते समय पासवर्ड 08 डिजिट एवं अधिकतम 12 का रखे।
  • UP Marriage Registration Form के भरने के बाद आपको सभी पक्षकारों और गवाहों के पहचान पत्र तथा उनके निवास के मूल प्रपत्रों के साथ सम्बंधित उपनिबंधक के समक्ष प्रस्तुत करना होगा।
  • इक्छुक आवेदक अपना खुद का पासवर्ड बनाये तथा अपनी आवेदन नंबर और पासवर्ड को सुरक्षित कही लिख या सेव करके रखलें।
  • आवेदन पत्र भरने के लिए आपका तस्वीरों का साइज 40 KB से कम और JPG फॉर्मेट में रखना होगा।
  • कृपया आप अपने निवास के पते में वही पता भरे जिसका प्रमाण पत्र आप भर रहें हैं।
  • निवास प्रमाण पत्र, फोटो,पहचान पत्र, और आयु प्रमाण पत्र आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड करना अनिवार्य है।
  • मोहल्ला /ग्राम के ऑप्शन में अपने मोहल्ले /ग्राम का नाम स्पष्ट रूप से सही सही से भरे।
  • दूल्हा और दुल्हन को अपने शपथ पत्र भी अपलोड करना अनिवार्य है।
  • पूरा विवरण भरने के बाद कृपया पूर्वालोकन में भरे हुए पत्र को पूर्ण रूप से भली भांति जांच अवश्य करलें , यदि किसी भी प्रकार की गलती हो, तो सम्बंधित विकल्प में जाकर सही करें और एक बार फिर से पूर्वालोकन में पूरा विवरण को जांच कर पूर्ण सुरक्षित करें।
  • प्रपत्र को पूर्ण सुरक्षित करने के बाद पंजीकरण शुल्क का ऑनलाइन शुल्क भुगतान हेतु सम्बंधित विकल्प का चयन करें।
  • भुगतान के पश्चात “भुगतान पत्र” का प्रिन्ट ऑउट लें।

यूपी विवाह पंजीकरण के आवश्यक दस्तावेज़ (पात्रता मानदंड)

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आयु प्रमाण पत्र।
  • वर एवं वधु का आधार कार्ड।
  • निवास प्रमाण पत्र।
  • पहचान पत्र।
  • दम्पति का फोटो।
  • मोबाइल नंबर।
  • वर और वधु की पासपोर्ट साइज फोटो।

IGRS पर विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन कैसे करे?

राज्य के सभी वो इच्छुक नागरिक यूपी विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन करना चाहते है. वो सभी नीचे बताये गए चरणों का पालन कर बड़ी ही आसानी से आधिकारिक वेबसाइट पर विवाह पंजीकरण आवेदन भर सकते है। और इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

  • इक्छुक लाभ्यर्थी को सबसे पहले आपको स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, उत्तरप्रदेश के आधिकारिक वेबसाइट igrsup.gov.in।↗ पर जाना होगा. या आप क्लिक कर के।↗ भी सीधे फॉर्म खोल सकते हैं।
  • यहां आपको होम पेज पर आपको नागरिक ऑनलाइन सेवा के अंतर्गत Online Marriage Registration का विकल्प नजर आएगा, आप इस विकल्प पर क्लिक करे।
  • इसके बाद आपसे आधार आधारित विवरण UIDAI के आधार पर आधार कार्ड का विवाह पंजीकरण मे उपयोग करने हेतु अपकी अनुमति मांगी जाएगी। आपको यहाँ “हां” पर क्लिक करना होगा।
Igrsup-marraige
  • अगले नए पेज पर आपसे वेबसाइट पर लॉगिन करने के लिए विकल्प आएगा। यहां आप नाम, जनपद, तहसील तथा मोबाइल नंबर की जानकारियों के द्वारा आधिकारिक वेबसाइट में Login कर सकते है।
  • विवाह पंजीकरण आधिकारिक वेबसाइट में लॉगिन करने के बाद आधार कार्डधारक सामने आ रहे, “आवेदन आधार-आधारित” पर क्लिक करें और जिनके पास आधार कार्ड नहीं है, वह “आवेदन कार्यालय आधारित” लिंक पर क्लिक कर अगले पेज पर जाएँ।
  • इसके बाद आपके सामने जो “यूपी ऑनलाइन विवाह पंजीकरण फॉर्म” खुल जायेगा, यहाँ पर आपको अपनी सभी सम्बंधित जानकारियों तथा सभी दस्तावेजों को अपलोड करना पड़ेगा।
Igrsup-marriage-registration-form
  • फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारियों को सभी ढंग से भरे, और साथ ही दस्तावेज़ों को अपलोड करे. और अंत में Submit के बटन पर Click करदें।
  • इस तरह आप बड़ी ही आसानी UP विवाह पंजीकरण कर सकते है।
ये भी पढ़ें:   Bihar Ka Shiksha Mantri Kaun Hai | Education Minister Of Bihar

स्टांप एवं रजिस्ट्रेशन विभाग (IGRS UP) विवाह पंजीकरण का सत्यापन कैसे करे?

  • आपको सबसे पहले आपको स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, उत्तरप्रदेश ऑफिसियल वेबसाइट igrsup.gov.in।↗ पर जाना होगा। या आप यहां पर क्लीक कर के भी।↗ Marriage Registration Verification पर जा सकते हैं।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको विवाह पंजीकरण विकल्प में आपको “आधार आधारित विवाह पंजीकरण सत्यापन” पर क्लिक करना होगा।
  • फिर इसके बाद आपके एक नया पेज दिखेगा, यहाँ आपको प्रमाण पत्र क्रमांक, आवेदन संख्या तथा विवाह का दिनांक दर्ज करके “देंखे” पर क्लिक कर देना है। और अगले पेज का इंतजार करना हैं।
  • अब आपके मोबाइल या कम्प्यूटर के स्क्रीन पर आपके विवाह पंजीकरण आवेदन की स्थिति दिखाई दे जायेगा।

Some Important Link Related IGRS UP

Public Grievance Registration – IGRS UP Register Grievance – Contact the concerned departments directlyComplain Here
Status of Complaint Jansunwai Track Grievance Know details of complaint and action have taken through mobile/emailTrack Status Here
Send Reminder – if action is not done till the appointed time Send a reminderSend Reminder Here

How To Reminder in Samadhan Portal?

यदि किसी भी आवेदक को लगता है कि उनके आवेदन या शिकायत पर विचार नहीं किया गया है और उन्हें अपनी शिकायतों के बारे में सूचना नहीं मिली है, तो वे उसी IGRS Portal के माध्यम से कार्यालय को एक अनुस्मारक भेज सकते हैं।

Reminder भेजने के लिए, नीचे दी गई चरण प्रक्रिया द्वारा आप चरण की जाँच कर सकते हैं।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर सेंड रिमाइंडर “Send Reminder” लिंक खोलें।
  • अब उन्हें संदर्भ संख्या दर्ज करना होगा और खोज विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अनुस्मारक भेजा जाएगा और आवेदकों को संबंधित प्राधिकारी से संबंधित उत्तर प्राप्त होगा।

IGRS UP Feedback?

इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से, यूपी के नागरिक भी अपनी प्रतिक्रिया भेज सकते हैं। उसके लिए, उन्हें कुछ चरणों का पालन करना होगा। जो निन्मलिखित निचे दिया गया हैं।

  • आधिकारिक पोर्टल पर जाकर।
  • उन्हें फ़ीडबैक भेजें “Send Feedback” टैब पर क्लिक करना होगा।
  • एक बार जब वे टैब खोलेंगे, तो उन्हें स्क्रीन पर डायलॉग बॉक्स मिलेगा। यहां उन्हें सभी आवश्यक जानकारी जैसे कि शिकायत आईडी, पंजीकृत मोबाइल नंबर भरना है। और आईडी, संतुष्टि रेटिंग आदि।
  • यह है कि वे अपने ऑनलाइन शिकायत निवारण पर अपने अनुभव के बारे में अपनी प्रतिक्रिया कैसे भेज सकते हैं।

Important Links Of IGRS UP

How To Download Jansunwai App? – जनसुनवाई एप्प कैसे डाउनलोड करें?

ऑनलाइन पोर्टल के साथ, यूपी सरकार नागरिकों को अपनी शिकायतें दर्ज करने के लिए एक और मंच प्रदान करती है। नागरिक अपनी शिकायत समधन के मोबाइल एप्लिकेशन यानी UP IGRS पर भी दर्ज करा सकते हैं।

Androids आवेदन नागरिकों और अधिकारियों दोनों के लिए है। मोबाइल ऐप का उद्देश्य राज्य में मोबाइल गवर्नेंस को प्राप्त करना है। इस ऐप के माध्यम से, नागरिक अपने मोबाइल पर अपनी शिकायतें भेज सकते हैं और आधिकारिक पोर्टल पर आए बिना स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं।

इसी तरह, इस मोबाइल एप्लिकेशन की मदद से विभागीय अधिकारी उन्हें भेजी गई शिकायतों की भी जांच कर सकते हैं।

Citizens

UP पब्लिक दिए गए लिंक पर जाकर प्ले स्टोर से इस ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.up.jansunwai.upjansunwai&hl=en

Officers

विभागीय अधिकारी दिए गए लिंक पर जाकर जनसुनवाई मोबाइल एप्लीकेशन भी डाउनलोड कर सकते हैं।
https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.up.jansunwai.igrsofficials&hl=en

जनसुनवाई Jansunwai से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदु | Important Point

यूपी के नागरिक इस ऑनलाइन सेवा के कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं और विशेषताओं पर भी नजर रख सकते हैं। ये महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं

  • यह नागरिकों और सरकार के बीच एक आसान और पारदर्शी इंटरफ़ेस है।
  • शिकायत के पंजीकरण, ट्रैकिंग, अनुस्मारक, या प्रतिक्रिया भेजने के बाद आवेदकों को एक एसएमएस सेवा अधिसूचना मिलेगी।
  • सभी संबंधित अधिकारियों के लिए यह अनिवार्य है कि वे शिकायत पर निपटान कार्रवाई के बाद पोर्टल पर निपटान रिपोर्ट को अपडेट करें।
  • हर संबंधित विभाग के कार्यालय में एक नोडल अधिकारी होगा जो ऑनलाइन पोर्टल को संभालता है।

FAQ: IGRSUP – Integrated Grievance Redressal System

Que – यह IGRS UP सिस्टम कब शुरू किया गया था?

Ans – IGRSUP को वर्ष 2016 में शुरू किया गया था। शुरुआत में, इसे जिला स्तर पर शुरू किया गया था, और फिर इसे अन्य स्तरों पर लागू किया गया था।

Que – [संदर्भ संख्या] IGRSUP Reference No क्या है?

Ans – IGRSUP Reference No चौदह अंक है। ऑनलाइन प्रणाली द्वारा आवेदकों को जारी किया गया। यह महत्वपूर्ण है। और नागरिकों को इसे सुरक्षित रखना आवश्यक है।

Que – जनसुनवाई पोर्टल पर उत्तर प्रदेश के नागरिक क्या लाभ उठा सकते हैं?

Ans – शिकायतों का पंजीकरण [Registration of Grievances]
शिकायतों की ट्रैकिंग [Tracking of Grievances]
अनुस्मारक [Reminders]
प्रतिक्रिया देना [Giving Feedback]

Que – समस्या के समाधान के लिए किसे संपर्क करना चाहिए?

Ans – विवरण [email protected] और [email protected] पर भेजे जा सकते हैं। ईमेल में संपर्क फ़ॉर्म, कार्यालय / संपर्क नाम को निर्दिष्ट करना अनिवार्य है। वे जनता की शिकायतों के लिए खंड 5 Ground मंजिल, मुख्यमंत्री कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं

Que – नागरिक अधीनस्थ कार्यालय से कैसे जानकारी प्राप्त करेंगे?

Ans – सूचना केवल ऑनलाइन मोड के माध्यम से प्राप्त की जाएगी। अधीनस्थ कार्यालय से कोई हार्ड कॉपी नहीं भेजी जाएगी।

Last Word:

तो दोस्तों, हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से यूपी सम्पत्ति पंजीकरण-प्रॉपर्टी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन। [UP Property-Sampati Online Registration @ igrsup.gov.in] के बारे में लगभग पूरी जानकारी देने की कोशिस की है।

इस प्रकार से ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अब IGRSUP में रजिस्ट्रेशन [Registration] कराना और भी आसान हो गया है, इससे रजिस्ट्रेशन तो आसान हुआ ही है साथ ही लोगों में तकनीक के प्रति समझ और इसकी ताकत का अंदाजा हुआ है, जहाँ समय की बचत होती है और ज्यादा शुल्क भी नहीं देना होगा आशा करते है की आपको यह जानकारी बहुत पसंद आयी होगी।

अगर आपको इस पोस्ट से सम्बंधित कोई भी सवाल हो, तो आप बेझिझक, नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का कोशिस करेंगे।

TelegramFacebookApp Download
TwitterFacebook GroupInstagram

2 thoughts on “[IGRSUP 2021] यूपी सम्पत्ति पंजीकरण — विवाह पंजीकरण | उत्तरप्रदेश रजिस्ट्रेशन एवं स्टाम्प विभाग @ igrsup.gov.in”

  1. In vill Bhauwapar , Revenue vill. Totha mustkil ,there is a chakrod adjacent to khasra no 183 which is not in existence. The applicant request for the paimaise of the same.

    Reply
  2. In vill Bhauwapar , Revenue vill. Totha mustkil ,there is a chakrod adjacent to khasra no 183 which is not in existence. The applicant request for the paimaise of the same.

    Reply

Leave a comment