बिहार बोर्ड छात्रों को भारी पड़ सकती है स्कुल / कॉलेज प्रिंसिपल की ये लापरवाही, परीक्षा देने से हो सकते हैं वंचित

Sponsored Links

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक और इंटर की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी है. इंटर की परीक्षा 1 फरवरी 2022 से आयोजित की जाएगी जो की 14 फरवरी 2022 तक चलेगी। तो वहीं, मैट्रिक कक्षा की वार्षिक परीक्षा 17 फरवरी 2022 शुरू होगी, और 24 फरवरी 2022 तक आयोजित की जाएगी। बिहार बोर्ड ने सभी इंटरमीडिएट के छात्रों के एडमिट कार्ड पहले ही जारी कर दिया हैं। क्लास 10वीं का एडमिट कार्ड 8 फरवरी 2022 तो वहीं 12वीं क्लास का एडमिट कार्ड 16 जनवरी 2022 को जारी किया था। लेकिन अभी भी कुछ मैट्रिक परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र अभी तक जारी नहीं किया गया हैं, ये सभी वो छात्र हैं, जिनका पंजीकरण या परीक्षा शुल्क अभी तक जमा नहीं किया गया है।

ऐसे छात्रों को परीक्षा देने से वंचित कर दिया जाएगा

जैसा की, हमने आपको बताया की बिहार बोर्ड ने बिहार बोर्ड 12वीं परीक्षा 2022 के सभी छात्रों का एडमिट कार्ड जारी कर दिया हैं। लेकिन वहीं बिहार बोर्ड 10वीं परीक्षा 2022 के कुछ उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड अभी तक जारी नहीं किए गए हैं। जिनका रजिस्ट्रेशन या परीक्षा शुल्क अभी तक जमा नहीं किया गया है। हम आपको बताना चाहेंगे की, बिहार बोर्ड द्वारा ऐसे छात्रों के लिए एक मौका प्रदान किया गया हैं जिनका एडमिट कार्ड अभी तक नहीं मिला हैं, वो सभी छात्र अपना बकाया फीस 5 फरवरी 2022 तक जमा करा सकते हैं।

कई स्कूल के प्राचार्यों ने छात्रों से रजिस्ट्रेशन फीस ली है, लेकिन बोर्ड को नहीं दी है

ऐसे हालत में बिहार बोर्ड ने बार-बार स्कूलों के प्राचार्यों से रजिस्ट्रेशन व परीक्षा शुल्क समय पर जमा करने की नोटिस जारी किया हैं, लेकिन अभी भी दर्जनों स्कूलों/कॉलेजों के प्राचार्य हैं जिन्होंने मैट्रिक परीक्षा व रजिस्ट्रेशन फीस बोर्ड को जमा नहीं कराई है। इसलिए बिहार बोर्ड ने ऐसे छात्रों के एडमिट कार्ड रोक दिए हैं।

सूत्रों से बताया गया कि बिहार बोर्ड द्वारा ऑनलाइन प्रवेश पत्र जारी किया जा रहा है। जिसे स्कूलों के प्राचार्यों द्वारा डाउनलोड कर अभ्यर्थियों को उनके हस्ताक्षर व मुहर के साथ उपलब्ध कराया जा रहा है। ऐसे में अभ्यर्थी अपने विद्यालय के प्राचार्य से मिल कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि पंजीकरण या परीक्षा शुल्क जमा हुआ है या नहीं। यदि शुल्क जमा किया जाता है तो वंचित छात्रों को प्रवेश पत्र प्राप्त करने में कोई समस्या नहीं आएगी।

CCTV Camera की निगरानी में होगी परीक्षाएं

सीसीटीवी कैमरों को कंट्रोल करने के लिए परीक्षा केंद्र में बनाए जाएंगे कंट्रोल रूम, कंट्रोल रूम की निगरानी केंद्र अधीक्षक को करनी होगी. यदि कोई उम्मीदवार परीक्षा देते समय इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के साथ पकड़ा जाता है, तो उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड इंटर सेंटअप परीक्षा 2023 के लिए रुटीन जारी, 11 अक्टूबर 2022 से शुरू होगी परीक्षा
Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

Leave a comment