WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Bihar Teacher Recruitment 3.0: बिहार शिक्षक भर्ती BPSC TRE 3.0 में आसान होगा ये पेपर, आयोग ने माना TRE-2 में हुई थी गलती

Bihar Public Service Commission ने कहा है कि तीसरे चरण की शिक्षक भर्ती परीक्षा (BPSC TRE 3.0) में भाषा के पेपर का स्तर TRE 2.0 की तुलना में आसान रखा जाएगा। बीपीएससी के अध्यक्ष अतुल प्रसाद ने स्वीकार किया कि टीआरई 2.0 में भाषा के प्रश्न पत्र का स्तर कठिन था जो कि नहीं होना चाहिए था, इसलिए बाद में इसकी आवश्यकता को हटा दिया गया।

उन्होंने कहा, ‘हमने टीआरई 2.0 भाषा के पेपर में देखा कि जिस स्तर पर प्रश्न पूछे गए थे, उसकी जरूरत नहीं थी। गणित, इतिहास या भूगोल के शिक्षक के लिए इतना कठिन होना आवश्यक नहीं है। उसका हिंदी व्याकरण बहुत अच्छा हो यह आवश्यक नहीं है। उसे गणित, इतिहास या भूगोल सिखाने के लिए हिंदी उतनी ही आवश्यक है।

उन्होंने कहा, ‘कुछ लोग जो सफल थे वे एक नंबर से चूक गए. तब आप लोग कहेंगे कि मेरा एक नंबर छूट गया था, पेपर इतना कठिन था, आपने बोनस नंबर क्यों नहीं दिए, इसलिए हमने बोनस नंबर दे दिए। तो हमने बोनस नंबर दिए, सभी को 9 बोनस नंबर दिए। सब पास हो गए., हमने किसी को फेल नहीं किया है इसलिए इसमें किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।’ जहां तक टीआरई 3.0 का सवाल है, हमें क्वालीफाइंग पेपर में उम्मीदवार की छात्रवृत्ति को देखने की जरूरत नहीं है।

हमें यह देखना होगा कि उसे उस विषय में न्यूनतम ज्ञान है या नहीं। 30 प्रश्नों के साथ भाषा के स्तर का ध्यान रखेंगे। गणित जैसे विभिन्न विषयों के अच्छे शिक्षकों को भर्ती से नहीं छोड़ा जाना चाहिए क्योंकि भाषा का पेपर कठिन है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

करीब 87 हजार पदों पर शिक्षकों की नियुक्ति होगी

बीपीएससी बिहार शिक्षक भर्ती के तीसरे चरण में करीब 87 हजार पदों पर भर्तियां होंगी, आवेदन प्रक्रिया 10 फरवरी 2024 से शुरू होगी। इसकी आखिरी तारीख 17 फरवरी 2024 होगी। परीक्षा 7 मार्च 2024 से 17 मार्च 2024 तक होगी।

इस बार भी प्राइमरी से लेकर हायर सेकेंडरी तक के स्कूलों में नियुक्ति के लिए परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी, होली से पहले नतीजे आने की संभावना है। Bihar Education Department जल्द ही विषय और वर्गवार पदों की सूची आयोग को भेजेगा।

विभाग की ओर से पदों की गणना की तैयारी अंतिम चरण में है, पहले और दूसरे चरण में खाली रह गए पद भी इसमें जोड़े जाएंगे।

परीक्षा ढाई घंटे की होगी

बीपीएससी अध्यक्ष ने कहा कि तीसरे चरण की परीक्षा में सिर्फ एक पेपर होगा, यह परीक्षा ढाई घंटे की होगी। कोई नकारात्मक अंकन नहीं होगा। भाग- I में भाषा की परीक्षा होगी। भाग-2 सामान्य अध्ययन का और भाग-3 संबंधित विषय का होगा। भाग- एक अर्हकारी विषय होगा। इसमें 30 अंकों के 30 प्रश्न पूछे जायेंगे. सामान्य अध्ययन में 40 प्रश्न होंगे और प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए एक अंक होगा यानी कुल 40 अंक। वहीं जिस विषय के आप शिक्षक बनेंगे उस विषय से 80 अंकों के 80 प्रश्न पूछे जाएंगे।

भाषा में उत्तीर्ण होने के बाद ही मेरिट सूची तैयार की जाएगी। एक ही पुस्तिका में तीनों भागों से प्रश्न होंगे। परीक्षा का सिलेबस एनसीईआरटी और एससीआरटी से होगा।

Leave a comment