Bihar Merit day List Award: बिहार मेरिट दिवस पर 116 टॉपर्स हुए सम्मानित, बिहार बोर्ड मैट्रिक और इंटर टॉपर्स को दिए गए एक-एक लाख रुपये और लैपटॉप

Bihar Education Department & Bihar Merit ने बिहार बोर्ड 10वीं और 12वीं परीक्षा 2023 के टॉपर्स को सम्मानित करने के लिए हर साल डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर मेधा दिवस की शुरुआत की है। इस साल बिहार मेधा दिवस के मौके पर मैट्रिक और इंटरमीडिएट के टॉपर्स को सम्मानित किया गया। मेधा सूची में शामिल सभी विद्यार्थियों को सम्मानित करने के लिए शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव केके पाठक भी मौजूद थे, जिन्होंने ज्ञान भवन में डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर आयोजित मेधा दिवस के अवसर पर 116 टॉपर्स को सम्मानित किया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मेधा दिवस सम्मान समारोह में बिहार मैट्रिक के प्रथम टॉपरों को एक-एक लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी गयी, जबकि दूसरे टॉपर्स को 75-75 हजार रुपये की पुरस्कार राशि दी गई. तीसरे टॉपर्स को 50,000 रुपये की पुरस्कार राशि दी गई।

इसके साथ ही सभी को लैपटॉप, प्रशस्ति पत्र और मेडल भी दिया गया. चौथे स्थान पर रहे टॉपर्स को 10,000 रुपये की पुरस्कार राशि दी गई। इसके अलावा प्रशस्ति पत्र, मेडल और लैपटॉप भी दिया गया। इंटर के चौथे और पांचवें टॉपर को 15-15 हजार रुपये की राशि से सम्मानित किया गया, इसके अलावा उन्हें प्रशस्ति पत्र, मेडल और लैपटॉप भी दिया गया।

What's In This Post?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने कहा

इसमें कोई शक नहीं कि बिहार बोर्ड ने शिक्षा के क्षेत्र में कई सुधार किये हैं, बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर की मेहनत का नतीजा है कि आज बिहार बोर्ड ने देश स्तर पर एक मुकाम हासिल किया है। हाल ही में सीबीएसई चेयरमैन ने भी बिहार बोर्ड के काम की तारीफ की थी और कहा था कि यह कई चीजों में सीबीएसई से बेहतर है।

इस मौके पर बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि हर साल मेधा दिवस पर मैट्रिक के टॉप टेन और इंटरमीडिएट के सभी संकायों के टॉप पांच विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाता है। इस अवसर पर शास्त्री नगर गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल, बांकीपुर गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल समेत कई स्कूलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये। पहले टॉपर को 1 लाख रुपये और दूसरे को 75 हजार रुपये मिले। Bihar Merit

इस अवसर पर मैट्रिक में प्रथम 10 स्थान प्राप्त करने वाले 90 विद्यार्थियों तथा इंटरमीडिएट की तीनों संकायों में प्रथम-पांच स्थान प्राप्त करने वाले 26 विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को एक-एक लाख रुपये, द्वितीय स्थान पाने वाले को 75 हजार रुपये और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रत्येक छात्र को 50 हजार रुपये का पुरस्कार दिया गया।

सभी टॉपर्स को लैपटॉप, प्रशस्ति पत्र और मेडल दिया गया. मैट्रिक परीक्षा में चौथे से दसवें स्थान पर रहने वालों को 10,000 रुपये, प्रशस्ति पत्र, मेडल और लैपटॉप से सम्मानित किया गया। इसके अलावा इंटर के चौथे और पांचवें स्थान पाने वालों को 15 हजार रुपये, प्रशस्ति पत्र, मेडल और लैपटॉप दिया गया।

जिले के अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया

मेधा दिवस के मौके पर शिक्षा विभाग ने जिले के अधिकारियों को सम्मानित भी किया. जिले में शिक्षा को लेकर सक्रिय और जिम्मेदार रहे जिले के अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया। जिसमें मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पटना, पश्चिमी चंपारण, नालंदा, सुपौल, गया, भागलपुर, वैशाली और अररिया जिले के जिला पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया।

टॉपर्स ने कहा, अवॉर्ड मिलने से जिम्मेदारी बढ़ गई है

Bihar School Examination Board द्वारा आयोजित मेधा दिवस पर इंटर और मैट्रिक के टॉपर विद्यार्थियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। पुरस्कार पाने के बाद टॉपर्स ने कहा कि सम्मान मिलने के बाद और बेहतर करने की जिम्मेदारी बढ़ गयी है।

इस मौके पर टॉपर छात्रों को लैपटॉप और नकद राशि दी गई। कला संकाय के अधिकांश टॉपरों ने यूपीएससी में बेहतर प्रदर्शन करने की बात कही, वहीं कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों ने सीए और साइंस स्ट्रीम के छात्रों ने इंजीनियरिंग के क्षेत्र में करियर बनाने की बात कही।

Bihar Merit ने पिछले वर्षों में कई उपलब्धियां हासिल की हैं

उन्होंने कहा कि BSEB Bihar Board & Bihar Merit ने पिछले वर्षों में कई उपलब्धियां हासिल की हैं, जिसके कारण समिति नये आयाम हासिल कर रही है और उच्च तकनीकी गुणवत्ता के साथ समय पर परीक्षा परिणाम प्रकाशित कर न केवल राज्य बल्कि पूरे देश में कीर्तिमान स्थापित कर रही है। राजेंद्र प्रसाद स्मृति व्याख्यान देते हुए आईआईटी मद्रास के पूर्व प्रोफेसर प्रो श्रीश चौधरी ने कहा कि सम्मान समारोह में ज्यादातर बच्चे ग्रामीण इलाकों से थे, यह बिहार की बदलती तस्वीर को दर्शाता है। जब तक गांव नहीं बदलेगा, हमारा समाज नहीं बदलेगा। Bihar Board Scholarship

WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

Leave a comment