साइंस में सौरभ कुमार टॉपर एवं अर्जुन कुमार, कॉमर्स में अंकित कुमार, आर्ट्स में संगम राज ने मारी बाजी

Sponsored Links

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट का रिजल्ट आ गया है. साइंस में सौरभ कुमार ने टॉप किया है। वह नवादा का रहने वाले है। वहीं कॉमर्स में पटना के अंकित कुमार ने शीर्ष स्थान हासिल की है. कला संकाय गोपालगंज के संगम राज ने टॉप किया है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने रिजल्ट जारी कर दिया है. इस अवसर पर शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार और आनंद किशोर भी उपस्थित थे।

इस परीक्षा में 13 लाख 25 हजार 749 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। सभी संकायों का उत्तीर्ण प्रतिशत अलग-अलग है। इसमें 6 लाख 83 हजार 920 छात्र-छात्राओं एवं शेष बालिकाओं ने भाग लिया था। विज्ञान संकाय में छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.07 और लड़कों का 77.89 रहा। 4,52,171 पहले, 51,083 दूसरे और 99,550 तीसरे स्थान पर रहे। कुल 80.15 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। बिहार बोर्ड 12वीं 2022 का परिणाम 2021 से बेहतर रहा है। पास प्रतिशत अधिक है। वहीं लड़कों ने इस बार टॉपर्स की लिस्ट में जगह बनाई है.

साइंस संकाय में सौरभ कुमार और अर्जुन कुमार ने किया टॉप

सौरभ कुमार और अर्जुन कुमार पहले स्थान पर रहे। दोनों को 472 अंक मिले हैं। राज रंजन दूसरे स्थान पर रहे। वे मोतिहारी जिले के रहने वाले हैं. उसे 471 अंक मिले हैं। तीसरे स्थान पर सेजल कुमार हैं जो गया कॉलेज की छात्रा हैं, उन्होंने 470 अंक प्राप्त किए हैं.

कॉमर्स संकाय में अंकित कुमार गुप्ता ने किया टॉप

एनएए के अंकित कुमार गुप्ता 94.6%, नवादा के विनीत सिन्हा और गया के मुस्कान सिंह 94.4% के साथ दूसरे और गोपालगंज की अंजलि कुमारी 94% अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहीं।

कला संकाय में संगम राज ने किया टॉप

गोपालगंज का संगम राज 482 अंकों के साथ पहले, कटिहार की श्रेया कुमारी 471 अंकों के साथ दूसरे, मधेपुरा की रितिका रत्न 470 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है.

लड़कियों को मिलेंगे 25-25 हजार रुपये

इस बार भी इंटर की परीक्षा में लड़कियों का जलवा रहा हैं। 82.39 फीसदी लड़कियां पास हुई हैं और 78.04 फीसदी लड़कों का रिजल्ट आया है. इधर, बिहार सरकार लड़कियों को प्रोत्साहन के तौर पर 25-25 हजार रुपये देगी. अगर अलग-अलग विषयों की बात करें तो साइंस स्ट्रीम में 83.7%, आर्ट्स में 79.53 फीसदी और कॉमर्स में 90.38 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं.

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि परीक्षा फरवरी में ली गई थी और एक महीने के भीतर परिणाम घोषित कर दिया गया. मैं इस बात से खुश हूं। इसके लिए मैं शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी का आभार व्यक्त करना चाहता हूं कि उनके मार्गदर्शन में इस बार हुई परीक्षाएं बोर्ड के पदाधिकारियों की देखरेख में आयोजित की गईं. परीक्षा बहुत ही साफ-सुथरी तरीके से ली गई है। आज इसका परिणाम भी समय पर आ गया है।

संजय कुमार ने बताया कि कला में 4833 छात्राएं और 263 छात्राएं हैं। यानी जो लड़कियां ज्यादा आर्ट्स पढ़ रही हैं। विज्ञान में करीब तीन लाख 80 हजार छात्रों ने परीक्षा दी है, जबकि विज्ञान में लड़कियों की संख्या एक लाख 87 हजार है। इंटरमीडिएट की परीक्षा की बात करें तो लड़के और लड़कियों की संख्या लगभग बराबर है। यह एक अच्छा संकेत है कि लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत बेहतर है।

ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड 10वीं और 12वीं परीक्षा फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 8 अक्टूबर 2022 तक बढ़ी
Telegram Facebook
Twitter Facebook Group
Google NewsApp Download

Leave a comment