Bihar Education Department: Government Schools in 10 Days में एक लाख से ज्यादा बच्चों के नाम काटे गए, केके पाठक के आदेश पर बड़ी कार्रवाई

बिहार में पिछले 10 दिनों के अंदर करीब एक लाख बच्चों के नाम स्कूलों से हटा दिए गए हैं। यह कार्रवाई Bihar Education Department | Government Schools in 10 Days के अपर मुख्य सचिव KK Pathak के निर्देश पर की गयी है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

नामांकन डुप्लीकेसी यानी एक से अधिक जगह पर नामांकन रद्द करने और गलत तरीके से योजनाओं का लाभ लेने के खिलाफ विभाग ने गंभीरता दिखायी है, जिन बच्चों के नाम काटे गए हैं वे सभी वे छात्र हैं जिनका नामांकन सरकारी और निजी स्कूलों में एक साथ हुआ था

इससे पहले Government Schools in 10 Days | ACS KK Pathak ने सभी जिलों को लगातार तीन दिन तक स्कूल नहीं आने वाले बच्चों को नोटिस देने का निर्देश दिया था। उनके माता-पिता से बात करें और बच्चों को स्कूल आने के लिए कहें, इसके बाद भी लगातार 15 दिनों तक स्कूल नहीं आने वाले बच्चों का नामांकन रद्द कर दिया जाये।

ये आंकड़ा और भी बढ़ सकता है | Government Schools in 10 Days

शिक्षा विभाग को जिलों से मिली रिपोर्ट के मुताबिक 13 सितंबर 2023 तक 1 लाख 1 हजार 86 बच्चों के नाम स्कूलों से हटाये गये हैं। ये आंकड़ा और भी बढ़ सकता है, ये सभी वे बच्चे हैं जिनका नामांकन इसी माह रद्द कर दिया गया है।

केके पाठक ने 2 सितंबर 2023 को जिलाधिकारियों को लगातार अनुपस्थित रहने वाले छात्रों का नामांकन रद्द करने का निर्देश दिया था। पाठक ने कहा कि हर छात्र का पता लगाया जाना चाहिए, यह देखना होगा कि वह एक साथ दो विद्यालयों में नामांकित है या नहीं।

उनका कहना है कि ऐसे छात्र सरकारी स्कूलों से निकाले जाने के डर से लगातार 15 दिनों तक अनुपस्थित नहीं रहते और समय-समय पर स्कूल आते रहते हैं, जबकि वे नियमित रूप से दूसरे निजी स्कूलों में जाते हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए ही उन्होंने सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

केके पाठक की ओर से जिलाधिकारियों को लिखे पत्र में यह भी कहा गया कि सरकारी स्कूलों में नामांकित कुछ छात्रों के राज्य से बाहर रहने की जानकारी है। आपको बता दें कि पिछले महीने स्कूलों के निरीक्षण के दौरान यह बात सामने आई थी कि कई बच्चों ने दो स्कूलों में नामांकन कराया है, इसके कारण Bihar School Examination Board के सरकारी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम रहती है। Bihar Board 10th Exam 2024 form

दोबारा नामांकन के लिए क्या करना होगा?

अगर किसी बच्चे को BSEB Bihar Board School से निकाल दिया गया है और वह दोबारा पढ़ाई के लिए आता है तो उसका दोबारा नामांकन कराया जाएगा, इसके लिए अभिभावक से शपथ पत्र लिया जाएगा।

अभिभावकों को यह लिखकर देना होगा कि उनका बच्चा नियमित रूप से स्कूल आएगा, इसके बाद ही उनका दोबारा नामांकन होगा।

इन जिलों में सबसे ज्यादा नाम कटे

जिलों से मिल रही रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा नाम पश्चिमी चंपारण और अररिया जिले में काटे गये हैं। यहां करीब 10-10 हजार बच्चों का नामांकन रद्द कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें:  BSEB 12 Class Exam: बिहार बोर्ड इंटर परीक्षा 2024 में ये हैं स्कोरिंग विषय, एग्जाम शुरू होने से पहले करें तैयारी

वहीं, पटना के स्कूलों से 7 हजार छात्रों के नाम हटा दिए गए हैं, प्राथमिक विद्यालयों में नामांकन रद्द होने की संख्या अधिक है।

WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

2 thoughts on “Bihar Education Department: Government Schools in 10 Days में एक लाख से ज्यादा बच्चों के नाम काटे गए, केके पाठक के आदेश पर बड़ी कार्रवाई”

Leave a comment