Bihar B.Ed Result Update: बिहार शिक्षक भर्ती में शामिल 3.90 लाख बीएड पास अभ्यर्थियों के रिजल्ट पर लगा रोक, जानिए वजह

Bihar B.Ed Result Update अब प्राइमरी (पहली से पांचवीं) शिक्षक नहीं बन सकेंगे। मंगलवार को बीपीएससी और शिक्षा विभाग के बीच हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। इसके बाद शिक्षक भर्ती में शामिल 3 लाख 90 हजार बीएड पास अभ्यर्थियों का रिजल्ट रोक दिया गया है, अब केवल D.El.Ed का रिजल्ट 14 सितंबर 2023 को जारी किया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिहार में 1 लाख 70 हजार 461 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है। कक्षा 1 से 5वीं तक की परीक्षा में 3 लाख 90 हजार बीएड उत्तीर्ण अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इससे जुड़े विभिन्न मुद्दों पर मंगलवार को बीपीएससी और शिक्षा विभाग के अधिकारियों के बीच बैठक भी हुई।

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए प्राइमरी टीचर (पीआरटी) के लिए बीएड की योग्यता खत्म कर दी थी। इस फैसले के बाद बीएड डिग्री धारक छात्र प्राथमिक शिक्षक बनने के पात्र नहीं होंगे। कक्षा पांच तक पढ़ाने के लिए केवल बीटीसी (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट) या डीएलएड डिग्री वाले छात्र ही पात्र माने जाएंगे।

Bihar B.Ed Result Update | बैठक में शिक्षा विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए

इसमें BPSC और Bihar Education Department के वरीय अधिकारी शामिल हुए, न्यूनतम अंक कितने अंकों के आधार पर परिणाम जारी किया जाए इस पर भी चर्चा हुई। बीपीएससी के अध्यक्ष अतुल प्रसाद ने हाल ही में मीडिया को बताया था कि कक्षा 9 से 12 तक के कई विषयों में उम्मीदवारों की संख्या रिक्ति से कम है।

माध्यमिक शिक्षक की नियुक्ति में बीएड अभ्यर्थियों को कुछ लाभ मिल सकता है

पटना ट्रेनिंग कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर आशुतोष कुमार के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट का स्पष्ट आदेश है कि बीएड वाले प्राइमरी शिक्षक नहीं बनेंगे. चूंकि एनसीटीई ने कोर्ट के फैसले को अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है, इसका मतलब साफ है कि एएनसीटीई उक्त फैसले को स्वीकार कर रही है। इसलिए यह तय है कि बीएड उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को कक्षा 1 से 5 तक के लिए शिक्षक के रूप में नियुक्त नहीं किया जाएगा। Bihar Constable Restoration Examination 2023

संभव है कि माध्यमिक शिक्षक नियुक्ति में सीटीईटी पास बीएड अभ्यर्थियों को कुछ लाभ देने की योजना है। हालाँकि, ये अभी नहीं कहा जा सकता। जब तक शिक्षा विभाग स्पष्ट रूप से कुछ जारी नहीं करता, दस्तावेज़ सत्यापन भी हमेशा परिणाम के बाद होना चाहिए।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
ये भी पढ़ें:  Bihar Niyojit Shikshak Exam: अब अभियार्थी 5 बार दे सकते हैं योग्यता परीक्षा, बिहार शिक्षा मंत्री ने दिया अपडेट
WhatsappTelegram
TwitterFacebook
Google NewsBSEB App

Leave a comment