इस माह के अंत तक खुलेगा इंटर में नामांकन के लिए आवेदन का OFSS Portal, जल्द जारी होगी सीटों की सूची

बिहार बोर्ड से मैट्रिक की कक्षा पास कर चुके छात्र-छात्राओं को अब इंटर में नामांकन का बेसब्री से इंतजार है। क्योंकि पूरे देश में बिहार बोर्ड ने एक बार फिर से सबसे पहले रिजल्ट देकर इतिहास रच दिया। अब रिजल्ट जारी होने के काफी समय बाद भी इंटर कक्षा की अड्मिशन फॉर्म में देरी हो रही है।

बिहार बोर्ड के मुताबिक मैट्रिकुलेशन कंपार्टमेंटल-कम-स्पेशल परीक्षा 09 मई 2022 को खत्म हो गयी हैं। और इस परीक्षा के कॉपियों का मूल्यांकन 12 मई 2022 से शुरू होगा। और अनुमानित इस परीक्षा का परिणाम मई, 2022 के अंतिम सप्ताह तक जारी किया जाएगा। हालाँकि, सूत्रों के मुताबिक बिहार बोर्ड कंपार्टमेंटल एग्जाम रिजल्ट के पहले इंटर सत्र 2022-24 में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी।

इसके साथ ही, बीएसईबी के ओएफएसएस पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन मई, 2022 के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा। बता दें कि मैट्रिक विशेष परीक्षा 2022 में शामिल छात्रों को इंटर सत्र 2022-24 में प्रवेश लेने का मौका मिलेगा।

तीन चरणों में मिलेगा प्रवेश का मौका

आपको बता दें कि ऑनलाइन आवेदन करने के बाद बिहार बोर्ड की ओर से मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी। तीन चरणों में जारी होगी मेरिट लिस्ट जिनका नाम इसमें शामिल होगा, उन्हें पहले प्रवेश का मौका मिलेगा। जो लोग तीन चरणों में प्रवेश नहीं ले पाएंगे, उन्हें स्पॉट एडमिशन का मौका मिलेगा।

आपको बता दें कि ऑनलाइन आवेदन करते समय छात्राओं को कॉलेज और स्कूल का विकल्प देने का मौका मिलेगा। इसके लिए 20 कॉलेज या स्कूल का विकल्प दिया जा सकता है। वहीं, कॉलेजों और स्कूलों की फैकल्टी वाइज सीटों की सूची जल्द ही जारी की जाएगी।

इस साल 21 लाख से ज्यादा सीटों पर होंगे इंटर में एडमिशन

बिहार बोर्ड के मुताबिक साल 2021 में 3664 स्कूल-कॉलेजों में इंटर में एडमिशन लिया गया था. इसके लिए फैकल्टी वाइज 17 लाख से ज्यादा सीटें निकाली गईं।

इस बार 2318 अपग्रेडेड स्कूलों को शामिल करने से सीटों की संख्या 21 लाख से अधिक हो जाएगी। ऐसे में अंतर सत्र 2022-24 में कॉलेज व स्कूल के साथ सीटों की संख्या भी बढ़ गई है। यह छात्रों के साथ-साथ छात्राओं के लिए भी फायदेमंद होगा। अब प्रदेश के हर स्कूल में छात्राओं को प्रवेश का मौका मिलेगा। छात्र अपनी सुविधा के अनुसार प्रवेश ले सकेंगे।

बीएसईबी ने सभी छात्रों के स्कूलों को संहिताबद्ध किया

दरअसल, शिक्षा विभाग के निर्देश पर बीएसईबी ने राज्य भर के सभी लड़कों के स्कूलों को कोड किया है।

ऐसे में जिन स्कूलों में छात्राएं प्रवेश नहीं ले पा रही थीं, वहां अब उन्हें प्रवेश का मौका मिलेगा। आपको बता दें कि इससे प्रदेश के सभी 5946 महाविद्यालयों व विद्यालयों में अंतर सत्र 2022-24 में बेटियों का प्रवेश होगा. इससे पूरे राज्य में छात्राओं की संख्या में इजाफा हुआ है।

OFSS बिहार इंटर प्रवेश 2022 आवश्यक दस्तावेज

  • टीसी / एसएलसी (मूल)
  • निमंत्रण पत्र (इंविविविटी लटरटरी डाउनलोड)
  • 10वीं की मार्कशीट
  • अनन्तिम प्रमाणपत्र
  • चरित्र प्रमाण पत्र
  • कास्ट सर्टिफिकेट
  • आय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज कलर फोटो
  • अन्य दस्तावेज (स्कूल के नियमों के अनुसार)
ये भी पढ़ें:   बिहार बोर्ड 10वीं परीक्षा 2022 में पास होने के लिए कितने नंबर जरूरी, जानें मैट्रिक के पासिंग मार्क्स

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट में 5.89 लाख सीटें बढ़ेंगी

बिहार बोर्ड में इंटर में इस बार पांच लाख 89 हजार से अधिक सीटों की वृद्धि होगी। बिहार बोर्ड द्वारा राज्यभर के 2948 उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालयों को 11वीं के लिए स्कूल कोड दिया जा रहा है। स्कूलों द्वारा आवेदन करने के बाद उनके मूलभूत संरचना के आधार पर विज्ञान, कला, वाणिज्य संकाय के लिए एक से तीन सेक्शन तक नामांकन की अनुमति बोर्ड दे रहा है। सीटों में वृद्धि से इस बार 11वीं में नामांकन के लिए 22 लाख से अधिक सीटें होंगी।

बिहार बोर्ड की मानें तो 2021 में 11वीं के लिए 17 लाख दो हजार सीटें थीं, लेकिन इस बार यह संख्या बढ़कर 22 लाख 91 हजार से अधिक हो जायेगी। बिहार बोर्ड द्वारा लगभग हर दिन उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालयों को स्कूल कोड के साथ सीटें आवंटित की जा रही हैं। अब तक ज्यादातर स्कूलों को विज्ञान, कला संकाय में 80-80 और वाणिज्य संकाय में 40 सीटें आवंटित हुई हैं। पटना जिले के 166 नए उत्क्रमित विद्यालयों में 11वीं की पढ़ाई इस बार शुरू होगी। सभी स्कूलों में कोएड शिक्षा की मान्यता दी गई है।

Leave a comment